Unnao News: किशोरी की हत्या कर शव जमीन में गाड़ा, दो माह बाद मिला, पूर्व राज्य मंत्री के बेटे पर अपहरण का आरोप

288


Unnao News: किशोरी की हत्या कर शव जमीन में गाड़ा, दो माह बाद मिला, पूर्व राज्य मंत्री के बेटे पर अपहरण का आरोप

उन्नाव: उत्तर प्रदेश के उन्नाव में किशोरी का शव पूर्व राज्य मंत्री फतेह बहादुर सिंह के दिव्यानंद आश्रम के निकट स्थित प्लाट में मिला। किशोरी का शव मिलने की जानकारी मिलते ही परिजन में कोहराम मच गया। एएसपी की देखरेख में शव को जमीन के अंदर से निकाला गया। पीड़िता की मां ने कहा कि पुलिस किशोरी को खोजने की जगह उसे गलत साबित करने में लगे थे। कह रही थी कि कुछ दिन में किशोरी आ जाएगी, लेकिन आज 10 फरवरी को उसकी डेड बॉडी मिल रही है। इस संबंध में एएसपी ने कहा कि शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा जा रहा है। शीघ्र ही अन्य गिरफ्तारियां भी होंगी। उन्होंने पुलिस पर लग रहे आरोप का खंडन किया।

मामला सदर कोतवाली क्षेत्र का
मामला उस समय चर्चा में आया था, जब पीड़िता की मां ने अखिलेश यादव की कार के आगे आत्महत्या का प्रयास किया था। विगत 8 दिसंबर को पीड़िता की मां ने सदर कोतवाली में तहरीर देकर बेटी के अपहरण करने की जानकारी दी और उन्होंने इसका आरोप पूर्व राज्यमंत्री फतेह बहादुर सिंह के बेटे राजोल सिंह उर्फ अरुण सिंह पर लगाया, लेकिन पुलिस ने मामले की गंभीरता को न समझते हुए गुमशुदगी में दर्ज कर पल्ला झाड़ लिया। पुलिस की निष्क्रियता को देखते हुए गायब किशोरी की मां ने लखनऊ में विगत 24 जनवरी को अखिलेश यादव की कार के सामने आत्महत्या का प्रयास किया। लखनऊ में हुए इस घटनाक्रम से उन्नाव पुलिस पर सवाल उठने लगे, जिसके बाद सक्रिय हुए पुलिस ने तत्काल राजोल सिंह को गिरफ्तार कर जांच में गति दी। घटना की जानकारी मिलते ही एसपी दिनेश त्रिपाठी भी मौके पर पहुंच गए। घटना को लेकर परिजनों के साथ ग्रामीणों में भी रोष व्याप्त है।

मृतक किशोरी

पीड़िता की मां ने ये बताया
पीड़िता की मां ने बताया कि विवेचना अधिकारी क्षेत्राधिकारी नगर और सदर कोतवाली पुलिस के कारण उनकी पुत्री की हत्या हुई है। यदि उनके कहने पर तीन खंड की बिल्डिंग की भी जांच हो जाती तो उनकी बेटी जिंदा मिल जाती, लेकिन पुलिस ने इसे विवादित जगह बता कर जांच नहीं की। दूसरी तरफ पुलिस उनकी बेटी के भाग जाने और वापस आने पर बयान दर्ज कराने की बात करती रही। पुलिस कहती रही कि बिटिया तुम्हारी कमाई का जरिया, घूम फिर कर आ जाएगी। खोजने का प्रयास नहीं किया। उन्हें एसपी से भी मिलने नहीं दिया जा रहा था। आज उनकी बेटी का शव जमीन में गड़ा हुआ मिला।

एएसपी शशि शेखर सिंह बोले
एएसपी शशि शेखर सिंह ने कहा 8 दिसंबर को गुमशुदगी दर्ज हुई थी। बाद में मुकदमे में तरमीम किया गया था। आज किशोरी की डेड बॉडी बरामद हुई है। जिसे पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है। इसमें जो भी व्यक्ति शामिल है उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी एक सवाल के जवाब में पुलिस ने नियमानुसार कार्रवाई किया। एक व्यक्ति को गिरफ्तार करके जेल भेजा गया है।



Source link