केंद्रीय मंत्री उमा भारती का हनुमान जाति विवाद पर बयान

0

नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने ललितपुर में हनुमान की जाति को लेकर एक बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि भगवन की कोई जाति नहीं होती है.

बता दें कि जिले के सर्किट हाऊस में उन्होंने कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों से इस बारे में मुलाकात की है. इस दौरान उन्होंने पत्रकारों के सवाल के जवाब में हनुमान की जाति विवाद को लेकर ये बातें कहीं है.

भगवान की जाति को लेकर किसी प्रकार का कोई विवाद नहीं होना चाहिए- उमा भारती 

उनका यह मानना है कि इस विषय में रहीं राजनीती बयानबाजी उचित नहीं है. उमा भारती ने कहा कि भगवान की जाति को लेकर किसी प्रकार का कोई विवाद नहीं होना चाहिए. हाल ही में नेताओं द्वारा हनुमान की जाति को लेकर कई नेताओं के विवादित बयानबाजी देखने को मिली हो. इस पर केंद्रीय मंत्री ने कहा है कि भगवान की कोई जाति नहीं होती है. वे सम्पूर्ण मानव जगत की सर्वाच्य सत्ता हैं.

बहरहाल यह विवाद सीएम योगी के उस बयान के बाद से शुरू हुआ जब उन्होंने हनुमान जी को दलित बताया था. हाल ही में अभिनेता नसीरुद्दीन शाह द्वारा दिए गए बयान में उन्होंने आलोचना की है. उन्होंने आगे कहा कि इस तरफ के बयानों से देश में विभाजन के हालात बनाए जा रहें है. ये ऐसे लोग है जिन्होंने पहले भी पुरस्कार वापस करने की राजनीति कर चुके हैं.

नसीरुद्दीन शाह की एक सोची समझी साजिश करार दिया है- उमा भारती 

उनका कहना है कि ऐसे लोग अपनी लोकप्रियता का गलत लाभ उठाते है और इन्हीं लोगों के कारण देश में नफरत की स्थिति बनने की कोशिश की जा रहीं है. ये लोग ये लोग अन्न, जल तो देश का करते हैं लेकिन विश्व पटल पर देश को ही बदनाम करते हैं. केन्द्रीय मंत्री ने इसे नसीरुद्दीन शाह की एक सोची समझी साजिश करार दिया है.