सावधान: यूजीसी ने जारी कर दी है फर्ज़ी विश्वविद्यालयों की लिस्ट, कहीं आप भी इसकी चपेट में तो नहीं

0

भारत में शिक्षा हमेशा से एक ज़रूरी चीज़ रही है।  पुराने ज़माने में पढ़ाई-लिखाई को बहुत ही सम्मान की नज़र से देखा जाता था मगर आज के वक़्त में शिक्षा मात्र कारोबार बन कर रह गयी है।  देश के बड़े-बड़े नामी संस्थान इसे एक व्यवसाय की तरह चला रहे हैं।  इसका सबसे दुखद पहलू ये है कि अपने फायदे के लिए कई विश्वविद्यालयों ने यूजीसी की मान्यता भी नहीं ली  है।  लेकिन यहाँ बड़ी मात्रा में छात्र पढ़ रहे हैं और इन संस्थानों से मिली डिग्रियां फर्ज़ी हैं।  इन डिग्रियों का कहीं कोई मोल नही।  देश के लाखों छात्र ये त्रासदी झेल रहे हैं।  लेकिन इस बार विश्वविद्यालयों को मान्यता देने वाली यूजीसी (विश्विद्यालय अनुदान आयोग) ने सख्त कार्यवाही करने की पहल की है।

नए सत्र में यूजीसी ने फर्जी संसथानों की एक सूची जारी करके छात्रों को सावधान किया है।  इस वक़्त देश के लगभग सभी विश्वविद्यालयों में प्रवेश प्रक्रिया शुरू होने वाली है।  कुछ विश्वविद्यालयों ने आवेदन प्रक्रिया शुरू भी कर दी है। एडमिशन की भागदौड़ में छात्र फर्जी यूनिवर्सिटी के चंगुल में न फंस जाएं, इसके लिए यूजीसी ने देश में चल रहे 24 फर्जी विश्वविद्यालयों की सूची जारी की है।

यूजी द्वारा जारी की गयी लिस्ट में नामांकित फर्ज़ी संस्थान आयोग से कोई भी उपाधि देने के लिए मान्य नहीं हैं। यूजीसी ने पब्लिक नोटिस जारी करने के साथ ही विश्वविद्यालयों को भी निर्देशित किया है कि वे अपनी वेबसाइट पर इन फर्ज़ी यूनिवर्सिटी की सूची अपलोड कर दें ताकि छात्रों को समय रहते इसकी जानकारी हो सके। यूजीसी ने कहा है कि ये संस्थान यूजीसी अधिनियम 1956 का उल्लंघन कर रहे हें। छात्र इनमें प्रवेश न लें।

12वीं के बाद छात्र अच्छी जगह एडमिशन पाने के लिए कई अलग-अलग विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवेदन करते हैं।  कई बार मेरिट में न आने के कारण वह ऑनलाइन सूचना के माध्यम से फर्ज़ी विश्वविद्यालयों में प्रवेश ले लेते हैं। लेकिन जब कहीं नौकरी पाने की बारी आती है तो उनके पैरों के नीचे जमीन खिसक जाती है, क्योंकि इन विश्वविद्यालयों की डिग्री की कोई मान्यता नहीं।

उत्तर प्रदेश के एमजेपी रुहेलखंड विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर अनिल शुक्ल ने कहा कि वेबसाइट पर फर्ज़ी विश्वविद्यालयों की सूची जारी करा दी जाएगी। बता दें कि एमजेपी रुहेलखंड विश्वविद्यालय से संबद्ध विभिन्न कॉलेजों में भी स्नातक और परास्नातक के आवेदन शुरू हो गए हैं।

पिछले साल उत्तर प्रदेश के बरेली शहर में फर्जी विश्वविद्यालय से मेडिकल कोर्स कराने का मामला सामने आया था। बरेली के डेलापीर स्थित एक संस्थान ने दिल्ली विश्वकर्मा यूनिवर्सिटी से संबद्धता दिखा कर सैकड़ों छात्रों के प्रवेश लिए थे। बाद में पता चला कि ये संस्थान यूजीसी की फर्ज़ी विश्वविद्यालयों की सूची में शामिल है। इस घटना के सामने आने के बाद काफी हंगामा हुआ और ज़िला स्तरीय जांच भी हुई।

ये है देशभर के फर्ज़ी विश्वविद्यालय

  • मैथिली विश्वविद्यालय, दरभंगा, बिहार
  • कमर्शियल यूनिवर्सिटी लिमिटेड, दरियागंज, दिल्ली
  • यूनाइटेड नेशन्स यूनिवर्सिटी, दिल्ली
  • वोकेशनल यूनिवर्सिटी, दिल्ली
  • एडीआर सेंट्रिक ज्यूरिडिकल यूनिवर्सिटी, नई दिल्ली
  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एंड इंजीनियरिंग, नई दिल्ली
  • विश्व कर्मा ओपन यूनिवर्सिटी फोर सेल्फ एम्लॉइमंट, नई दिल्ली
  • आध्यात्मिक विश्वविद्यालय, नई दिल्ली
  • बडागानवी सरकार वर्ल्ड ओपन यूनिवर्सिटी एजूकेशन सोसाइटी गोकाक बेलगाम कर्नाटक
  • सेंट जॉन विश्वविद्यालय कृष्णटम, केरल
  • राजा अरेबिक यूनिवर्सिटी, नागपुर
  • इंडियन यूनिवर्सिटी ऑफ ऑल्टरनेटिवमेडिसिन, कोलकाता
  • इंस्टीट्यूट ऑफ अल्टरनेटिव मेडिसन एंड रिसर्च, काठुरपूकूर कलकत्ता
  • महिला ग्राम विद्यापीठ विश्वविद्यालय, प्रयाग, इलाहाबाद
  • वाराणसेय संस्कृत विश्वविद्यालय, वाराणसी यूपी/जगतपुरी दिल्ली
  • गांधी हिंद विद्यापीठ प्रयाग, इलाहाबाद
  • नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ इलेक्ट्रो कंप्लैक्स होमियोपैथी, कानपुर
  • नेताजी सुभाष चंद्र बोस ओपन यूनिवर्सिटी, अचलताल, अलीगढ़
  • उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय कोसीकला, मथुरा
  • महाराणा प्रताप शिक्षा निकेतन विश्वविद्यालय, प्रतापगढ़
  • इंद्रप्रस्थ शिक्षा परिषद इंस्टीट्यूशनल एरिया, खोड़ा माकनपुर, नोएडा
  • नव भारत शिक्षा परिषद, अन्नपूर्ण भवन, शक्तिनगर, राउरकेला
  • नार्थ ओडीसा यूनिवर्सिटी ऑफ एग्रीकल्चर एंड टेक्नोलॉजी यूनिवर्सिटी, मयूरभंज, उड़ीसा
  • श्री बोधी एकेडमी ऑफ हायर एजूकेशन, पुडुचेरी
  • भारतीय शिक्षा परिषद लखनऊ उत्तर प्रदेश भी इस सूची में है, लेकिन यूजीसी ने कहा है इसका मामला जिला न्यायाधीश लखनऊ के समकक्ष विचाराधीन है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

five × 2 =