स्वामी विवेकानंद की वो बातें जो बदल सकती है आपकी ज़िंदगी

0

वेदों के ज्ञानी स्वामी विवेकानंद केवल एक शखसियत ही नहीं है, बल्कि स्वामी विवेकानंद का जीवन किसी भी शख्स के लिए प्रेरणा से कम नहीं है। विवेकानंद केवल किताबों से ही लोगों को जीवन का मार्ग ही नहीं दिखाते है, बल्कि जीवन जीने की सही कला भी इंसान को स्वामी विवेकानंद के जीवन से ही मिलती है। आइऐ आज हम आपको बताते है उनके वो विचार जो बदल सकते है आपकी ज़िंदगी।

  • स्वामी विवेकानंद कहते है की “ ख़ुद को कमजोर समझना सबसे बड़ा पाप है”।
  • जीवन में ज्यादा रिश्ते होना जरुरी नहीं है, बल्कि जितने रिश्ते है उनमें जीवन होना बहुत जरुरी है।
  • जब तक आप खुद पर विश्वास नहीं करते है, तब तक आप भगवान पर विश्वास नहीं कर सकते है।
  • स्वामी विवेकानंद कहते है की, दिल और दिमाग के टकराव में हमेशा दिल की ही सुने।
  • अगर किसी दिन आपके जीवन में कोई समस्या न आए तो समझ लिजिए की आप ग़लत मार्ग पर चल रहे है।
  • स्वामी विवेकानंद कहते है की लोग मुझ पर हंसते है क्योंकि मैं सबसे अलग़ हूँ, मैं लोगों पर हंसता हूँ क्योंकि वो सब एक जैसे है।
  • स्वामी विवेकानंद नें कहा, की श्री रामक्रष्ण कहा करते थे, की जब तक मैं जीवित हुँ, तब तक मैं सीखता हूँ, वह व्यक्ति वह समाज जिसके पास सीखने के लिए कुछ नहीं है, वह पहले से ही मौत के जबड़े में है।
  • दिम में एक बार अपने आप से जरुर बात करें, वरना आप दुनिया के सबसे महत्तवपूर्ण आदमी से बात नहीं कर पाओगे।
  • हम जितना ज्यादा बाहर जांए और दूसरों का भला करें, हमारा ह्रदय उतना ही शुद्र होगा और परमात्मा उसमें बसेंगे।
  • पुरी दुनिया की सारी शाक्तियां पहले से ही हमारे अंदर है, वो हमी है जो अपनी ऑखों पर हाथ रख लेते हैं और फिर रोते हैं कि कितना अंधकार है।