फिल्मी ड्रामे से भरपूर रहा बांग्लादेश-श्रीलंका मैच, ड्रेसिंग रूम में भी की तोड़-फोड़

0

निदाहास ट्राफी में फाइनल में पहुंचने के लिए बांग्लादेश और श्रीलंका के बीच मुकाबला हुआ. मैच में कुछ ऐसा हुआ जिसने हर किसी को हैरान कर दिया. मैच का आखिरी ओवर किसी ड्रामे से कम नहीं था. पहले मैच रोका गया. बांग्लादेश के खिलाड़ियों को वॉक आउट करने को कहा गया, मैच शुरू हुआ बांग्लादेश ने मैच जीता फिर दोनों देशों के खिलाड़ियों के बीच लड़ाई शुरू हो गई. किसी को भरोसा नहीं था कि ऐसा ड्रामा होगा. शुक्रवार की रात आर. प्रेमदासा स्टेडियम में मैच के बाद एक फैसले को लेकर पहले मैदान के अंदर विवाद हुआ और फिर बाद में बांग्लादेशी ड्रेसिंग रूम में शीशा तोड़ने की घटना सामने आई.

नाटकीय रही जीत और जश्न

दरअसल आखिरी ओवर में बांग्लादेश को जीत के लिए 6 गेंद पर 12 रन चाहिए थे. बॉलिंग कर रहे थे इशुरु उडाना. ओवर की पहली गेंद बाउंस हुई और रन नहीं बना. दूसरी गेंद पर उडाना ने फिर बाउंसर मारा और खिलाड़ी रन आउट हो गया. जिसके बाद बांग्लादेशी कप्तान शाकिब-अल-हसन नाराज़ हो गए. उनको लगा कि साइड अंपायर ने नो बॉल दी है लेकिन स्टम्पस के पास खड़े अंपायर ने नो बॉल नहीं दी.

जिसके बाद वो भड़क गए और बल्लेबाज़ो को वापस बुलाने लगे. काफी देर तक मैच रुका रहा. मामला शांत होने के बाद फिर मैच को शुरू किया गया. इस घटनाक्रम को खत्म करने में अहम भूमिका बांग्लादेश के टीम मैनेजर खालिद महमूद ने निभाई. उनके समझाने के बाद शाकिब ने अपने खिलाड़ियों को खेलने के लिए भेजा. अगर बांग्लादेशी बल्लेबाज बैटिंग के लिए नहीं जाते, तो टीम को टूर्नामेंट से डिस्क्वालिफाई कर दिया जाता और श्रीलंका फाइनल में पहुंच जाता. बाद में कमेंट्री कर रहे सुनील गावस्कर ने कहा कि गेंद ज़रूर कंधे से ऊपर थी, लेकिन बल्लेबाज़ के हेलमेट से नीचे होकर निकली.

फिलहाल बांग्लादेशी टीम को 4 गेंद पर 12 रन की ज़रूरत थी. तीसरी गेंद पर चौका गया और अगली गेंद पर दो रन लिए गए. अब बांग्लादेश को 2 गेंद पर 6 रन चाहिए थे. जिसके बाद 5वीं गेद पर माहमुदुल्लाह ने छक्का जड़ दिया और मैच जीत लिया.

बांग्लादेश यहां भी नहीं रुका और मैच जीतने के बाद सभी खिलाड़ियों ने ग्राउंड पर नागिन डांस किया. फिर बांग्लादेशी खिलाड़ी श्रीलंकन खिलाड़ी से भिड़ गया. नौबत ये आ गई कि श्रीलंकन खिलाड़ी बांग्लादेशी खिलाड़ी को मारने के लिए भगने लगा. जिसके बाद बांग्लादेशी बल्लेबाज़ तमीम इकबाल बीच बचाव करते आए और खिलाड़ियों को शांत किया.

ड्रेसिंग रूम को क्षति पहुंचायी

मैदान पर हुए हंगामे के बाद बांग्लादेशी ड्रेसिंग रूम में शीशा तोड़ने की घटना सामने आई. इसकी शिकायत हुई है. खबरों की मानें, तो ग्राउंड स्टाफ को सीसीटीवी फुटेज की जांच कर यह हरकत करने वाले शख्स का पता लगाने के निर्देश मिले हैं. मैच रेफरी क्रिस ब्रॉड ने खुद फुटेज देखा है. उन्होंने ग्राउंड स्टाफ को यह पता लगाने को भी कहा कि इसके पीछे कौन है. जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जा सकती है. इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक बांग्लादेश टीम मैनेजमेंट ने नुकसान की भरपाई का प्रस्ताव भी दिया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seventeen − seven =