उपचुनावों में बीजेपी पर भारी पड़ी समाजवादी पार्टी मिली शानदार जीत, वहीं बीजेपी को केवल 25 वोट

0

नई दिल्ली: विधानसभा चुनाव और लोकसभा चुनाव से पहले ही बीजेपी को मात झेलनी पड़ रहीं है. भाजपा पार्टी को इस बार यूपी में समाजवादी पार्टी द्वारा करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा. उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले के विशुनपुरा विकास खंड के ब्लॉक प्रमुख की कुर्सी अब समाजवादी पार्टी के हाथ चलेगी है. ये सीट किसी और पार्टी से नहीं बल्कि बिजेपी से छिनी गई है.

लल्लन यादव ने 92 वोट हासिल कर भारी मात्रा में यह जीत दर्ज की

बता दें कि सपा नेता और पूर्व ब्लॉक प्रमुख विक्रमा यादव के छोटे भाई लल्लन यादव ने 92 वोट हासिल कर भारी मात्रा में यह जीत दर्ज की है. बीजेपी समर्थित उम्मीदवारों को सिर्फ 25 वोट ही मिल सकें है. वहीं सात वोटों को अवैध घोषित किया गया है.

आपको बता दें कि पहले चुनावों में यह विशुनपुरा ब्लॉक प्रमुख की कुर्सी भाजपा पार्टी के खेम में थी. इस सीट में स्वामी प्रसाद मौर्य के करीबी गोल्डी जायसवाल की पत्नी कंचन जायसवाल थी. तकरीबन दो माह पहले पूर्व ब्लॉक प्रमुख विक्रमा यादव के अगुवाई में बीडीसी सदस्यों ने कंचन जायसवाल के खिलाफ
विद्रोह किया था. इसी के तहत कंचन जायसवाल के पास अविश्वास प्रस्ताव आया था.

यह भी पढ़ें: 2019 में चुनाव नहीं जीते तो बनाने पड़ेंगे ‘नाली किनारे पकोड़े’: अखलेश यादव

भाजपा समर्थित अरुण राय महज 25 मतों पर ही ढेर हो गए

फिर से हुए चुनाव में सपा ने अपनी जीत का परचम लहरा दिया है. सपा नेता विक्रमा यादव के छोटे भाई लल्लन यादव के हित में 92 मतदाताओं ने वोट किया है. वहीं भाजपा समर्थित अरुण राय महज 25 मतों पर ही ढेर हो गए. ये ही नहीं रिटर्निंग ऑफिसर द्वारा 7 मतों को अवैध भी घोषित किया गया. तमाम 124 वोटरों ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया था.

बता दें कि सपा की घेराबंदी देख बीजेपी की कंचन जायसवाल चुनाव लड़ने की हिम्मत नहीं कर पाई थी. लोकसभा चुनाव होने से पहले ही समाजवादी पार्टी (सपा) की इस बड़ी जीत ने सपाइयों को उत्साह से भर दिया है.