सोनिया गांधी बोलीं, अजेय नहीं है मोदी, 2004 की हार न भूलें

0

यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी ने अपनी परंपरागत सीट रायबरेली से नामांकन दाख़िल कर दिया है। नामांकन दाख़िल करने के बाद, सोनिया ने मीडिया को संबोधित करते हुए पीएम नरेन्द्र मोदी पर तंज कसा। ये सवाल पूछने पर कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अजेय हैं या नहीं, उन्होंने कहा कि बिल्कुल भी नहीं। उन्हें 2004 की हार नहीं भूलनी चाहिए। उस वक़्त अटल बिहारी वाजपेयी जी को अजेय बताया जा रहा था, लेकिन चुनाव नतीजों में हमारी जीत हुई।

बता दें कि साल 2004 के आम चुनाव के दौरान बीजेपी अति उत्साहित नज़र आ रही थी और देशभर में शाइनिंग इंडिया का नारा दिया जा रहा था। वाजपेयी सरकार ने इसी वजह से तय वक़्त से थोड़ा पहले आम चुनाव करा लिए थे, लेकिन जब चुनावों के नतीजे आए तो बीजेपी की तत्कालीन अटल बिहारी वाजपेयी सरकार बहुमत के अभाव में गिर गई थी। तब केंद्र में मनमोहन सिंह के नेतृत्व में यूपीए-1 की सरकार बनी थी। उस वक्त सोनिया गांधी के पीएम बनने की प्रबल संभावना थी, लेकिन उन्होंने इससे इनकार कर दिया था और मनमोहन सिंह को पीएम बनाया गया था। उस वक़्त सारे राजनीतिक पंडितों के दावे फेल हो गए थे।

सोनिया के इस बयान के बाद राहुल गांधी ने भी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि ‘भारतीय इतिहास में ऐसे कई लोग हुए हैं, जिन्हें यह मानने में अहंकार था कि वे भारत के लोगों की तुलना में अजेय और बड़े हैं। पिछले 5 सालों में नरेंद्र मोदी ने देशवासियों के लिए कुछ नहीं किया है। चुनाव नतीजे आने के बाद उनकी अजेयता पूरी होगी’।