डेढ़ माह पूर्व लापता हुई 6 साल की मासूम बच्ची का बिखरा हुआ कंकाल बरामद

0

अयोध्या: बीकापुर कोतवाली क्षेत्र के करौंदी माफी धरेठा दशरथपुर गांव से डेढ़ महीने पहले घर के सामने खेलते समय लापता हुई छह साल की मासूम बच्ची शालिनी बेटी फेकूराम बनराजा का कंकाल बीते दिन यानी रविवार सुबह गांव के करीब 500 मीटर पश्चिम पूर्व ग्राम प्रधान राजकुमार मिश्रा के गन्ने के खेत में बरामद हुआ है.

पुलिस ने कंकाल, कपड़े और खून के नमूने को फोरेंसिक जांच के लिए भेजा 

बता दें कि लापता बालिका के पिता ने खेत में मिले कपड़े से कंकाल की पुष्टि अपनी बेटी के रूप में की. पुलिस ने कंकाल, कपड़े और खून के नमूने को फोरेंसिक जांच के लिए भेज दिया है. रविवार की सुबह आस-पास के स्थानीय ग्रामीण गन्ने के खेत में गन्ना काटने गए थे. उस दौरान ग्रामीणों ने कंकाल का सिर, कपड़ा, एक हंसीया, बाल इधर-उधर बिखरे देखे.

ये ही नहीं एक जगह सूखा हुआ खून भी मिला है. वहीं गन्ने के खेत की कुछ दूरी पर भेड़ की खाल भी मिली है. जिसके कारण गांव में सनसनी सी फैल गई. बहरहाल किसानों ने गन्ना काटना बंद कर दिया है. मौके पर पहुंचकर माता-पिता ने लापता बच्ची के कपड़ों से उसकी पुष्टि की. आशंका है कि अपहरण के बाद बालिका की हत्या कर शव गन्ने के खेत में फेंका है.

परिवारवालों का कहना है कि नवरात्रि के दौरान दुर्गा अष्टमी 17 अक्टूबर को शालिनी दोपहर घर से सामने और प्राथमिक विद्यालय के पास अपने दोस्तों के साथ खेल रहीं थी. उस दौरान वह वहां से गायब थी. काफी खोजबीन के बाद और कोई सूचना न मिलने पर लापता बालिका की मां उर्मिला देवी के तहरीर पर कोतवाली पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज किया था.

कौन-कौन रहा मौजूद

मामला दर्ज के बाद कोतवाली पुलिस ने गांव के कुछ संदिग्ध युवकों को हिरासत में लेकर पूछताछ की. लेकिन बाद में उन्हें छोड़ दिया गया था. जैसे ही वारदात की जानकारी एसपी ग्रामीण संजय कुमार को मिली तो उनके साथ मौके पर सीओ अरविंद चौरसिया, बीकापुर कोतवाल रामचंद्र सरोज के साथ कोतवाली पुलिस टीम के अलावा इनायतनगर, पूराकलंदर, तारुन, हैदरगंज थाना प्रभारी समेत कई थानों की पुलिस टीम पहुंची.