Shivsena Crisis: शिंदे का दावा- लोकसभा में मिली उनके गुट को मान्यता, अब उद्धव से शिवसेना छीनना होगा आसान?

0
108

Shivsena Crisis: शिंदे का दावा- लोकसभा में मिली उनके गुट को मान्यता, अब उद्धव से शिवसेना छीनना होगा आसान?

मुंबई: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के बीच अब पार्टी की दावेदारी को लेकर जंग तेज हो गई है। मुंबई में मीडिया को संबोधित करते हुए एकनाथ शिंदे ने दावा किया कि लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने राहुल शिवाले को सदन के नेता रूप में मान्यता दे दी है। हालांकि सूत्रों के अनुसार, लोकसभा अध्यक्ष दोनों गुटों की ओर से मिले पत्रों की अभी जांच कर रहे हैं और इस मामले में बुधवार को फैसला ले सकते हैं।

दरअसल एकनाथ शिंदे गुट ने अब लोकसभा में शिवसेना पर अपना दावा ठोंक दिया है। मंगलवार को शिंदे गुट के 12 लोक सभा सांसदों ने स्पीकर ओम बिरला से मुलाकात कर बताया कि उन्होंने सदन में पार्टी का नेता बदल लिया है। उन्होंने शिवसेना सांसद राहुल शिवाले को सदन में शिवसेना के नेता के रूप में मान्यता देने का अनुरोध किया। जबकि एक दिन पहले ही पार्टी के सदन के नेता विनायक राउत ने लोकसभा अध्यक्ष को एक पत्र सौंपा था जिसमें विरोधी खेमे से कोई ज्ञापन स्वीकार नहीं करने का अनुरोध किया गया था।

एकनाथ शिंदे का दावा
एकनाथ शिंदे ने कहा कि 12 सांसदों ने आज ओम बिरला से मुलाकात कर उन्हें एक पत्र सौंपा जिसमें राहुल शिवाले को सदन के नेता के रूप में मान्यता देने की गुजारिश की गई। उन्होंने कहा, ‘राहुल शिवाले सदन के नेता होंगे जबकि भावना गवली लोकसभा में पार्टी की चीफ विप रहेंगी।’ पिछले दिनों ठाकरे गुट ने भावना गवली को इस पद से हटाकर राजन विचारे को चीफ विप नियुक्त किया था।

राहुल शिवाले सदन के नेता
लोक सभा अध्यक्ष से मुलाकात करने के बाद शिंदे गुट के सांसद हेमंत गोडसे ने बताया कि पार्टी के 12 सांसदों ने लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला से मुलाकात कर उन्हें बताया कि उन्होंने लोक सभा में अपना नेता बदल लिया है। उन्होंने बताया कि 12 सांसदों ने मिलकर विनायक राउत की जगह राहुल शेवाले को अपना नया नेता चुना है और उन्हें सदन में शिवसेना के नेता के तौर पर मान्यता देने के अनुरोध को लेकर ही 12 सांसदों ने स्पीकर साहब के साथ मुलाकात की है।

विनायक राउत ने भी भेजा पत्र
जबकि सोमवार को राउत ने लोकसभा अध्यक्ष को सौंपे पत्र में स्पष्ट किया था कि वे शिवसेना संसदीय पार्टी के विधिवत नियुक्त नेता हैं और राजन विचारे मुख्य सचेतक हैं। लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला से मुलाकात करने वाले इन 12 सांसदों में मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के बेटे और महाराष्ट्र के कल्याण से लोक सभा सांसद श्रीकांत शिंदे भी शामिल रहे। वर्तमान में लोक सभा में शिवसेना के कुल 19 सांसद है और इनमें से 12 सांसदों के शिंदे के साथ जाना उद्धव ठाकरे के लिए किसी बड़े झटके से कम नहीं है।

शिवसेना के ये 12 सांसद हुए बागी

शिवसेना में अब सांसदों के स्तर पर भी टूट हो गई है। महाराष्‍ट्र श‍िवसेना के 18 सांसदों में 12 सांसद एकनाथ श‍िंदे गुट में चले गए हैं। एक द‍िन पहले एकनाथ शिंदे के साथ ऑनलाइन मीट‍िंग में इन सांसदों ने हिस्सा लिया था। शिवसेना के बागी सांसदों में सदाशिव लोखंडे, हेमंत गोडसे, हेमंत पाटील, राजेंद्र गावित, संजय मंडलीक, श्रीकांत शिंदे, श्रीरंग बारणे, राहुल शेवाळे, प्रतापराव जाधव, धैर्यशील माने, कृपाल तुमाने, भावना गवली शामिल हैं।

इनपुट: अविनाश पांडेय

Copy

राजनीति की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – राजनीति
News