अपनी ताकत तौल सकते हैं शरद यादव ।

0

बिहार में गठबंधन टूटने से अपनी ही पार्टी से नाराज चल रहे जदयू के वरिष्ठ नेता शरद यादव विपक्षी एकता की नई पहल पहल शुरू कर सकते है । शरद यादव फिलहाल पार्टी के भीतर अपनी ताकत तौल रहे है। विभिन्न प्रदेशो के पार्टी नेता उनसे सम्पर्क बनाये रखे है। विपक्षी दलों के प्रमुख नेताओं से भी उनकी मुलाकतें
जदयू अध्यक्ष और बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार के महागठबंधन तोड़कर भाजपा के साथ चले जाने से आहत शरद पार्टी के भीतर अलग-अलग पड़ गए है। भाजपा नेताओं ने भी उनको मनाने की कोशिश की। लेकिन अपनी पार्टी के नेतृत्व द्वारा ज्यादा अहमियत न दिए जाने से शरद की समस्याएं कम नहीं हो रही है। अब तो जदयू के प्रवक्ताओं ने भी शरद यादव पर हमला करना शुरू कर दिया है। सूत्रों की माने तो यह शरद यादव का कहना है कि यह जानबूझ कर किया जा रहा है। ताकि शरद खुद ही पार्टी से दूर हो जाएं।

राजद नेताओं के साथ मुलाक़ात :
इस बीच विपक्ष के विभिन्न नेताओं ने शरद यादव से मुलाक़ात कर उनसे विपक्षी एकता कि धुरी बनने का आग्रह किया है। सूत्रों के अनुसार इस मुद्दे पर राजद, वामपंथी दल और कांग्रेस के कुछ नेता शरद के साथ और कांग्रेस के कुछ नेता शरद के साथ है। राजद के प्रवक्ता मनोज झा ने भी गुरुवार को शरद से मुलाकात की । राजद के वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद सिंह भी शरद से मुलाक़ात करने वाले है।

दिल्ली में 17 अगस्त को होने वाले सम्मेलन में हिस्सा लेंगे :
पटना में होने वाली जदयू की बैठक में शरद यादव के भाग लेने को लेकर भी संशय है। हालाँकि वे 17 अगस्त को दिल्ली में होने वाले एक गैरदलीय कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे, जिसमे विपक्षी नेताओं का जमावड़ा होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

three + four =