Sanjay Raut: आखिर क्या है वह सबसे बड़ा आरोप, जिस पर ED ने संजय राउत को गिरफ्तार कर लिया

0
131

Sanjay Raut: आखिर क्या है वह सबसे बड़ा आरोप, जिस पर ED ने संजय राउत को गिरफ्तार कर लिया

मुंबई: श‍िवसेना को रविवार को बड़ा झटका लगा। पात्रा चॉल घोटाले में मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़े मामले में 9 घंटे तक छापेमारी के बाद शिवसेना सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने हिरासत में ले लिया। राउत पर जांच में सहयोग न करने का आरोप है। इससे पहले ईडी की टीम ने 1,034 करोड़ रुपये के पात्रा चॉल जमीन घोटाला मामले में उनसे घंटों पूछताछ की। सुबह सात बजे ईडी के 20 से अधिक अधिकारी राउत के घर पहुंचे। उन्होंने राउत से गोरेगांव पात्रा चाल घोटाले के बारे में सवाल किए, लेकिन राउत ने उनके किसी भी सवालों का जवाब नहीं दिया। आखिरकार 9 घंटे की पूछताछ के बाद ईडी ने राउत को हिरासत में लिया। दोपहर बाद उन्हें दक्षिण मुंबई स्थित ईडी दफ्तर ले जाया गया। वहां भी इस घोटाले कथित भूमिका के बारे में उनसे पूछताछ जारी रही।

इससे पहले, ईडी ने उनके ख‍िलाफ कई समन जारी किए थे। उन्हें 27 जुलाई को भी तलब किया गया था। राउत ने आरोप लगाया है कि उन्हें सियासी बदले की भावना से निशाना बनाया जा रहा है। राउत के घर पर ईडी की टीम के पहुंचते ही उनके समर्थक वहां जमा हो गए और उन्होंने राउत के समर्थन में नारेबाजी की। ईडी की कार्रवाई के दौरान मुंबई पुलिस ने भांडुप स्थित राउत के घर से ईडी दफ्तर तक सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद कर रखी थी।

क्या हैं आरोप
– 2007 में एमडीए ने गोरेगांव के सिद्धार्थ नगर स्थित पात्रा चॉल के रिडिवेलपमेंट का काम संजय राउत के रिश्तेदार प्रवीण राउत की गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन कंपनी को दिया था
– यहां एमडीए की 47 एकड़ जमीन पर कुल 672 घर बने हैं, रीडिवेलपमेंट के बाद गुरु आशीष कंपनी को 3500 से ज्यादा फ्लैट बनाकर देने थे
– 14 साल बाद भी कंपनी ने लोगों को फ्लैट बनाकर नहीं दिए, तो पीड़ितों ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया
– इस मामले में प्रवीण राउत की 9 करोड़ रुपये और संजय राउत की पत्नी वर्षा की 2 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त हो चुकी है

1034 करोड़ रुपये के घोटाले में राउत का कनेक्शन?
आरोप है कि म्हाडा, संजय राउत के रिश्तेदार प्रवीण राउत की गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन कंपनी और हाउसिंग डेवलपमेंट ऐंड इन्फ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (HDIL) की मिली भगत से यह घोटाला हुआ है। 2007 में म्हाडा ने गोरेगांव के सिद्धार्थ नगर स्थित पात्रा चॉल के री-डेवलपमेंट का काम गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन कंपनी को दिया था। यहां म्हाडा की 47 एकड़ जमीन में कुल 672 घर बने हैं। कंपनी को 3500 से ज्यादा फ्लैट बनाकर देने थे। म्हाडा के लिए फ्लैट्स बनाने के बाद बची हुई जमीन को प्राइवेट डेवलपर्स को बेचना था, लेकिन 14 साल बाद भी कंपनी ने लोगों को फ्लैट बनाकर नहीं दिए। पीड़ित ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। आरोप लगा है कि यह करीब 1034 करोड़ का घोटाला है। इस मामले में प्रवीण राउत के 9 करोड़ रुपये और संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत की 2 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त हो चुकी है।

Copy

Video: जो खुश वो पेड़े बाटें, मीडिया से बोले संजय राऊत- मैं झुकूंगा नहीं


गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन पर आरोप

ईडी सूत्रों के मुताबिक, गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन पर आरोप है कि इसके संचालकों ने 47 एकड़ जमीन पर म्हाडा की फ्लैट बनाने के बजाय उसे 8 अलग-अलग बिल्डरों को बेच कर 1034 करोड़ रुपये कमाए। म्हाडा ने मार्च 2018 में गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई। इसकी जांच ईओडब्ल्यू कर रही है। ईओडब्ल्यू ने फरवरी 2020 में प्रवीण राउत को गिरफ्तार कर लिया। हालांकि, प्रवीण राउत को कोर्ट ने जमानत दे दी लेकिन पीएमसी बैंक घोटाला मामले में ईडी ने प्रवीण को गिरफ्तार कर लिया।

संजय राउत के करीबी सुजीत पाटकर का नाम आया

प्रवीण संजय राउत के करीबी माने जाते हैं। प्रवीण से हुई पूछताछ में संजय राउत के करीबी सुजीत पाटकर का नाम आया। सुजीत संजय राउत का करीबी माना जाता है। ईडी ने सुजीत के ठिकानों पर छापेमारी कर कई अहम दस्तावेज जब्त किए। इन्हीं दस्तावेज से ईडी को प्रवीण राउत की पत्नी माधुरी राउत और संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत के बीच 55 लाख रुपये के लोन की जानकारी मिली। इस रकम से दादर में वर्षा की ओर से एक ‌‌फ्लैट खरीदने का आरोप है।

Sanjay Raut ED Case Patra Chawl Scam : ईडी पहुंची घर, क्या आज गिरफ्तार हो जाएंगे शिवसेना के फायर ब्रांड नेता संजय राउत?

अलीबाग में जमीन खरीदने का भी आरोप
इसके साथ ही, म्हाडा लैंड डील में प्रवीण राउत को कमीशन के तौर पर 95 करोड़ रुपये मिलने और सुजीत पाटकर की एक वाइन ट्रेडिंग कंपनी में संजय राउत की बेटी का पार्टनर होने का भी आरोप लगा है। इसके अलावा, संजय की पत्नी वर्षा राउत और सुजीत पाटकर की पत्नी पर रुपयों में हेराफेरी कर संयुक्त रूप से अलीबाग में जमीन खरीदने का भी आरोप है। हालांकि, इन आरोपों को संजय राउत ने ट्वीट और प्रेस कॉ‌फ्रेंस कर बार-बार खारिज किया है।

राजनीति की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – राजनीति
News