2 साल बाद सानिया मिर्जा ने कोर्ट पर की वापसी, आते ही जीता पहला मैच

Sania Mirza
Sania Mirza

सानिया मिर्ज़ा ने मंगलवार को होबार्ट में अपने यूक्रेनी साथी नादिया किचेनोक के साथ होबार्ट इंटरनेशनल टूर्नामेंट के महिला युगल क्वार्टर फ़ाइनल में आगे बढ़ते हुए डब्ल्यूटीए सर्किट में जीत हासिल की।

आपको बता दें कि सानिया मिर्जा के लिए यह जीत इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि वह दो साल बाद कोर्ट में वापसी कर रही हैं। सानिया और किचेनोक ने जॉर्जिया के ओक्साना कलाश्निकोवा और जापान के मियू काटो को एक घंटे 41 मिनट तक चले मुकाबले में 2-6 7-6 (3) 10-3 से हराकर जीत हासिल की।

इंडो-यूक्रेनी जोड़ी का अगला मुकाबला अमेरिका की वानिया किंग और क्रिस्टीना मैकहेल से होगा। अमेरिकी जोड़ी ने अपने मुकाबले में जॉर्जिना गार्सिया पेरेज़ और सारा सोरिबेस टॉर्मो की चौथी वरीयता प्राप्त स्पेनिश जोड़ी को 6-2 7-5 से हराया है।

टेनिस से लगभग दो साल दूर रही 33 वर्षीय सानिया अपने बेटे इज़हान को जन्म देने के लिए अप्रैल 2018 में टेनिस से औपचारिक रूप से ब्रेक ले लिया था। हैदराबादी सानिया मिर्जा ने पाकिस्तानी क्रिकेटर शोएब मलिक से शादी की है।

जीत के बाद सानिया मिर्जा ने ट्वीट किया, “आज का दिन मेरे जीवन के सबसे खास दिनों में से एक था। इतने लंबे समय के बाद मैंने मैच जीता। मेरे साथ मेरे माता-पिता और मेरा छोटा बच्चा है। मुझे जो प्यार मिल रहा है, उसके लिए बहुत आभारी हूँ !!”

यह भी पढ़ें: 12 साल की उम्र में मौलवी बन करवायी शादी, बना रिकॉर्ड

सानिया ने आखिरी बार अक्टूबर 2017 में चाइना ओपन में खेला था जहां उनको घुटने में चोट लग गयी थी। सानिया युगल में पूर्व विश्व नंबर 1 खिलाड़ी रह चुकी हैं और उनके नाम छह ग्रैंड स्लैम खिताब हैं। वह 2013 में सबसे सफल भारतीय महिला टेनिस खिलाड़ी बनने के बाद सिंगल में अब नहीं खेलती है।

2007 में, उसने डब्ल्यूटीए सिंगल चार्ट में करियर का अपना हाईएस्ट 27 वां स्थान प्राप्त किया। हालांकि, उनके करियर को को कलाई की चोट और घुटने की चोट ने काफी नुकसान पहुंचाया।