Sandeep Patil Birthday: एक ओवर में 6 चौके जड़ मचाई थी सनसनी, जानें इस खिलाड़ी के क्रिकेट से लेकर बॉलिवुड सफर की अहम बातें

51


Sandeep Patil Birthday: एक ओवर में 6 चौके जड़ मचाई थी सनसनी, जानें इस खिलाड़ी के क्रिकेट से लेकर बॉलिवुड सफर की अहम बातें

हाइलाइट्स

  • संदीप पाटिल ने भारत की ओर से 29 टेस्ट और 45 वनडे खेले
  • संदीप को क्रिकेट विरासत में मिला था
  • पाटिल ने भारत के साथ साथ विदेशी टीम को भी कोचिंग दी

नई दिल्ली
भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व मिडिल ऑर्डर विस्फोटक बल्लेबाज संदीप पाटिल (Sandeep Patil Birthday) आज (18 अगस्त 2021) अपना 65वां बर्थडे सेलिब्रेट कर रहे हैं। साल 1956 में बॉम्बे (अब मुंबई) महाराष्ट्र में जन्मे पाटिल को क्रिकेट विरासत में मिला था।

टीम इंडिया के सेलेक्टर रह चुके संदीप पाटिल के पिता मधुसूदन पाटिल फर्स्ट क्लास क्रिकेटर के साथ साथ नेशनल लेवल के बैडमिंटन खिलाड़ी भी रहे हैं। इस दाएं हाथ के पूर्व बल्लेबाज ने अपने डेब्यू वनडे में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उसी के घर में मेलबर्न में 64 रन की शानदार पारी खेली थी। संदीप 1983 में वर्ल्ड चैंपियन टीम के हिस्सा रहे।

ICC T20 World Cup full Schedule: T20 वर्ल्ड कप के शेड्यूल का ऐलान, कब किसके बीच होगी भिड़ंत, जानिए पूरा कार्यक्रम
बॉब विलिस के एक ओवर में जड़े 6 चौके
इंग्लैंड के खिलाफ 1982 में मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड मैदान पर भारत का स्कोर 5 विकेट पर 136 रन था। इंग्लैंड ने अपनी पहली पारी में 425 रन बनाए थे। भारतीय टीम पहला टेस्ट मैच हार चुकी थी। टीम इंडिया पर दूसरे टेस्ट में हार का खतरा मंडरा रहा था। ऐसे में संदीप पाटिल ने 129 रनों की धमाकेदार पारी खेली। पाटिल ने अपनी पारी में 18 चौके और 2 छक्के लगाए।

इन 18 चौकों में से 6 उन्होंने तेज गेंदबाज बॉब विलिस के ही एक ओवर में लगाए थे। पाटिल अपनी आक्रामक बल्लेबाजी के लिए जाने जाते थे। 1980 के दशक के शुरुआती वर्षों में वह भारतीय मध्यक्रम का अहम हिस्सा थे।

navbharat times -IND vs PAK: T-20 वर्ल्ड कप में भारत से 24 अक्टूबर को भिड़ंत, पाक कप्तान बाबर आजम बोले- इंतजार खत्म, पूरी है तैयारी
ओवर की पहली गेंद ऑफ स्टंप के बाहर शॉट थी जिस पर पाटिल ने एक्स्ट्रा कवर बाउंड्री की ओर शानदार शॉट लगाया। अगली गेंद शॉट थी, पाटिल पीछे हटे और गेंदबाज के सिर के ऊपर से टेनिस के फोरहैंड जैसा शॉट जड़ा। तीसरी गेंद नो बॉल थी इस पर भी बैकफुट पंच जड़कर पाटिल ने एक और चौका हासिल किया।

चौथी गेंद उन्होंने पॉइंट के पीछे कट कर दी। अब वह चार गेंदों पर चार चौके लगा चुके थे। गली फील्डर के पास से गेंद को कटकर उन्होंने अपना शतक पूरा किया। विलिस ने शॉर्ट बॉल से पाटिल को चकमा देने की कोशिश की लेकिन उन्होंने उसे हुक कर ओवर का छठा चौका जड़ा।

कपिल देव के साथ मिलर 96 रन जोड़े
पाटिल ने कपिल देव के साथ मिलकर सातवें विकेट के लिए 96 रनों की साझेदारी की। कपिल ने 55 गेंदों पर 9 चौकों और एक छक्के की मदद से 65 रन बनाए। इसके बाद 8वें विकेट के लिए मदन लाल के साथ मिलकर 97 रन जोड़े। मदन लाल ने 26 रनों का योगदान दिया। भारत ने अपनी पारी में 8 विकेट पर 379 रन बनाए। मैच के पांचवें दिन कोई खेल नहीं हो पाया। और मैच ड्रॉ रहा।
navbharat times -Mark Wood Shoulder Injury: इंग्लैंड को लगा बड़ा झटका, तीसरे टेस्ट से बाहर हो सकते हैं चोटिल मार्क वुड
एक छक्का हॉकी मैदान पर जाकर गिरी
मुंबई की ओर से खेलते हुए संदीप पाटिल ने टेस्ट डेब्यू से एक सप्ताह पहले वानखेड़े स्टेडियम में सौराष्ट्र के खिलाफ फर्स्ट क्लास करियर का बड़ा स्कोर बनाया। संदीप ने 205 गेंदों पर 210 रन की पारी खेली जिसमें 19 चौके और 7 छक्के लगाए। इसमें एक छक्का इतना लंबा था कि गेंद मैदान से बाहर पास हॉकी स्टेडियम में जाकर गिरी।

29 टेस्ट और 45 वनडे खेले

संदीप पाटिल ने भारत की ओर से 29 टेस्ट और 45 वनडे इंटरनैशनल मैच खेले। उन्होंने टेस्ट में 4 शतक और 7 अर्धशतक की मदद से कुल 1588 रन बनाए जबकि वनडे में उनके नाम 1005 रन दर्ज है। 130 फर्स्ट क्लास मैचों में पाटिल के नाम 8156 रन दर्ज है। उनके नाम फर्स्ट क्लास मैचों में 20 शतक और 46 अर्धशतक दर्ज हैं।

टीम इंडिया और भारत ए टीम के कोच रहे

क्रिकेट से रिटायरमेंट के बाद संदीप पाटिल ने भारतीय सीनियर टीम और भारत ए टीम की कोचिंग की। वह केन्या के भी कोच रहे। केन्या की टीम पाटिल के मार्गदर्शन में 2003 वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में पहुंचने में सफल रही थी।

बॉलिवुड में भी आजमाए किस्मत

संदीप पाटिल ने बॉलिवुड में भी अपने किस्मत आजमाए। उन्होंने बॉलिवुड फिल्म ‘कभी अजनबी थे’ में अभिनेत्री पूनम ढिल्लो और देबश्री रॉय के साथ काम किया। हालांकि फिल्मों में उनका करियर कुछ खास नहीं रहा।

साल 2012 में चयनसमिति के अध्यक्ष चुने गए
संदीप साल 2012 में चयनसमिति के अध्यक्ष चुने गए। वह इस पद पर 4 साल तक रहे। उन्होंने अपने कार्यकाल के दौरान कई बड़े फैसले लिए। उन्होंने युवाओं को मौका दिया।



Source link