सहारा का क़र्ज़ चुकाने के लिए टुकड़ों में बेची जाएगी एंबी वैली

0

करोड़ों निवेशकों के क़र्ज़ में डूबी सहारा के लिए सुप्रीम कोर्ट ने एक बुरी खबर दी है. उच्चतम न्यायालय ने सहारा की एंबी वैली टाउनशिप को टुकड़ों में नीलाम करने की अनुमित दे दी है. शीर्ष अदालत की ओर से नियुक्त लिक्विडेटर ने बताया कि सहारा की इस संपत्ति को किसी एक कंपनी द्वारा खरीद पाना मुश्किल है, जिसके बाद कोर्ट ने यह आदेश दिया. सुप्रीम कोर्ट ने एंबी वैली की नीलामी के लिए बांबे हाई कोर्ट को आधिकारिक लिक्विडेटर नियुक्त किया है. लिक्विडेटर की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता डेरियस खंबाता ने बुधवार (7 फरवरी) को मामले की सुनवाई कर रही पीठ को बताया कि महिंद्रा ग्रुप और पीरामल ग्रुप ने एंबी वैली को खरीदने में दिलचस्पी दिखाई है. खंबाता ने बताया कि 142 अखबारों में विज्ञापन देने के अलावा अन्य तरीकों से भी एंबी वैली की नीलामी को प्रचारित किया गया था, लेकिन कोई भी एक कंपनी या व्यक्ति इसे खरीदने के लिए सामने नहीं आया. लिक्विडेटर ने बताया कि एंबी वैली में मौजूद इंटरनेशनल स्कूल, गोल्फ कोर्स, एयरपोर्ट, कन्वेंशन सेंटर और होटल को एक साथ के बजाय अलग से नीलाम किया जा सकता है. इस तरह इसके बाद ज्यादा खरीदार सामने आ सकते हैं. सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद अब एंबी वैली को कई हिस्सों में बातकर नीलामी की प्रक्रिया शुरू की जाएगी. इस मामले पर अगली सुनवाई अब 19 अप्रैल को होगी.

 

क़र्ज़ की वजह से जेल में है सहारा प्रमुख

सुप्रीम कोर्ट ने वर्ष 2012 में सहारा की दो कंपनियों को तकरीबन दो करोड़ निवेशकों का 24,000 करोड़ रुपया 15 फीसद ब्याज के साथ लौटाने का आदेश दिया था. कंपनी के प्रमुख सुब्रत रॉय को 10,000 करोड़ रुपया नहीं चुकाने के कारण 4 मार्च, 2014 में जेल भेज दिया गया था. इसके बाद उनकी संपत्ति की नीलामी कर निवेशकों का पैसा चुकाने की प्रक्रिया शुरू की गई थी. सुप्रीम कोर्ट ने एंबी वैली को नीलाम करने के लिए अक्टूबर, 2017 में बांबे हाई कोर्ट को लिक्विडेटर नियुक्त किया था. सुब्रत रॉय को मां के निधन पर मई, 2016 में जमानत पर छोड़ा गया था. मुख्य न्यायाधीश जस्टिस दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली पीठ ने सहारा ग्रुप को एंबी वैली की नीलामी में अड़ंगा लगाने पर चेतावनी भी दी थी.

खुद में एक शहर है एंबी वैली

सहारा की एंबी वैली टाउनशिप पुणे में स्थित है. सुप्रीम कोर्ट ने 11 सितंबर, 2017 को सहारा ग्रुप की उस अर्जी को ठुकरा दिया था, जिसमें एंबी वैली को नीलाम न करने की गुहार लगाई गई थी. सहारा का यह लग्जरी टाउनशिप पुणे में 8,900 एकड़ से भी ज्यादा के क्षेत्र में फैला हुआ है. इसमें लग्जरी रिजॉर्ट, होटल, स्वीमिंग पूल और एयरपोर्ट जैसी सुविधाएं उपलब्ध हैं. बाजार मूल्य पर एंबी वैली की कीमत 38,000 करोड़ रुपये आंकी गई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seven + 16 =