आखिर 2003 का विश्व कप क्यों हारा भारत?

0
Sachin Tendulkar
Sachin Tendulkar

भारतीय क्रिकेट टीम दिन पर दिन और बेहतर होती जा रही है. भारतीय टीम की उम्दा पारी देख देश का बच्चा भी क्रिकेट का दीवाना हो गया है. महेंद्र सिंह धोनी, विराट कोहली, हार्दिक पंडया और भी क्रिकेट के दिग्गज क्रिकेट की दुनिया को एक अलग मुकाम देना चाहते है.

अब बात करें 2003 के वर्ल्ड कप तो आखिर क्यों हारा भारत? सचिन तेंदुलकर के जीवन पर आधारित फिल्म ‘सचिन:ए बिलियन ड्रीम्स’ के मीडिया प्रीमियर के बाद पत्रकारों से बात करते हुए सचिन ने कहा “टी 20 क्रिकेट आने के बाद खिलाडियों के खेलने का तरीके में बहुत बदलाव आया है. और अगर 2003 विश्व कप के दौरान ऐसा होता तो भारत को मदद मिलती. भारत को 2003 विश्व कप फाइनल में आस्ट्रेलिया ने 125 रन से हराया था आस्ट्रेलिया ने दो विकेट पर 359 रन बनाये थे जिसके जवाब में भारतीय टीम 234 रन पर आउट हो गई थी ”

सचिन ने कहा कि “क्रिकेट अगर आज खेलते तो हम ज़रूर जीत जाते क्योकि भारत के खिलाडियों में अब एक अलग तरीका है खेलने का” उन्होंने कहा “हम उस मैच में बेहद उत्साहित थे और आज हमे वो मौका मिला होता तो हम उस मौके को छोड़ते नहीं”

उन्होंने कहा कि अगर टी 20 मैच उस वक़्त होता तो हमारे खिलाड़ियों का उत्साह और तरीका दोनों अलग होता क्योंकि उन दिनों 359 रन बनाना मुश्किल लगता था. लेकिन आज के दौर में वही चीज़ आसान लगती है क्योकि हमारे पास टी 20 मैच जैसे क्रिकेट है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fifteen + eleven =