Russia Ukraine tension का असर राजस्थान में भी , विदेश मेंं पढ़ रहे स्टूडेंट्स मांग रहे हैं मदद

0
107

Russia Ukraine tension का असर राजस्थान में भी , विदेश मेंं पढ़ रहे स्टूडेंट्स मांग रहे हैं मदद

रामस्वरूप लामरोड़ ,जयपुर:रशिया की ओर से यूक्रेन पर हमले की संभावना को देखते हुए विश्व के कई देशों ने अपने नागरिको को वापस बुला लिया है। इसके लिए बाकायदा एडवाइजरी भी जारी की गई है। भारत के हजारों नागरिक भी यूक्रेन में फंसे हुए हैं। विदेश मामलों के जानकार बूंदी निवासी चर्मेश शर्मा के मुताबिक राजस्थान के करीब 2000 छात्र यूक्रेन में फंसे हुए हैं, इन्हें वापस लाने के लिए भारत सरकार ने कोई प्रयास शुरू नहीं किए हैं। राजस्थान के छात्र और अन्य भारतीय नागरिक युद्ध हमले से डरे हुए हैं। ऐसे में वे सकुशल भारत पहुंचने के लिए मदद की गुहार लगा रहे हैं।

राजस्थान के छात्रों ने मैसेंजर के जरिए चर्मेश शर्मा से मांगी मदद
राजस्थान के करीब 2 हजार छात्र एमबीबीएस और अन्य कोर्स की पढाई के लिए यूक्रेन गए हुए हैं। इनमें से करीब 40 छात्र हाड़ौती क्षेत्र के रहने वाले हैं। इन छात्रों ने बूंदी निवासी चर्मेश शर्मा से मदद की गुहार लगाई है। मैसेंजर के जरिए इन छात्रों ने बताया कि यूक्रेन में युद्ध के हालात बने हुए हैं।

Weather Rajasthan: अभी चल रहा है मौसम का अप- डाउन, 3 दिन बाद फिर बढ़ेगी सर्दी
चर्मेश शर्मा ने मानवाधिकार आयोग में दर्ज करवाई शिकायत दर्ज
उन्होंने बताया है कि नीदरलैंड, इजराइल, इंग्लैंड, अमेरीका, जापान और नार्वे सहित कई देशों ने अपने नागरिकों को वापस बुला लिया है। कई देशों ने अपने दूतावास में तैनात अधिकारियों को भी वापस बुला लिया है लेकिन भारत सरकार ने फिलहाल कोई प्रयास नहीं किए हैं। अब विदेश मामलों के जानकार चर्मेश शर्मा ने मानवाधिकार आयोग में शिकायत दर्ज कराई है।

राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री कार्यलय को भेजी गई है शिकायत
कांग्रेस नेता चर्मेश शर्मा ने पीड़ित छात्रों से बात होने के बाद प्रधानमंत्री कार्यालय, राष्ट्रपति सचिवालय और मानवाधिकार आयोग के ऑनलाइन पोर्टल पर शिकायत दर्ज कराई है। मानवाधिकार आयोग ने रिपोर्ट दर्ज भी कर ली है। चर्मेश शर्मा भारतीय नागरिकों को सकुशल भारत लाने की मांग की है।

Copy

navbharat times -राजस्थान: हर गलती कीमत मांगती है.., अंगूर खट्टे है…BJP नेता राठौड़ और CM सलाहकार के बीच यह कैसी ट्विटर वॉर, पढ़ें डिटेल्स

बता दें कि इससे पूर्व भी चर्मेश शर्मा ने रूस में भारतीय नागरिक की मौत होने और शव को दफना दिए जाने के बावजूद कब्र से शव निकलवा कर भारत लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। चर्मेश शर्मा अब यूक्रेन में फंसे नागरिकों को भारत लाने के प्रयास में जुट गए हैं।

यूक्रेन द्वारा मिन्स्क समझौते को लागू नहीं करने से नाराज है रूस
उल्लेखनीय है कि रूस और यूक्रेन के बीच मिन्स्क समझौता हुआ था। रूस का आरोप है कि यूक्रेन ने मिन्स्क समझौते को लागू नहीं किया है। बताया जाता है कि यूक्रेन में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए हुए समझौते के तहत स्वाथों क्षेत्रों को रूसी समर्थित विद्रोहियों को सौंपना तय हुआ था।

navbharat times -Rajasthan News: स्कूलों के लेकर नया फरमान, राजस्थान की नई गाइडलाइंस जान लीजिए

करीब 14 हजार लोगों की मौत….
पिछले 7 सालों में स्वाथों क्षेत्रों में कई बार झड़प और आपसी हमले हो चुके हैं जिनमें करीब 14 हजार लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि अभी तक रूस ने किसी तरह के हमले का ऐलान नहीं किया है ,लेकिन हमले की तैयारियों के चलते सेना और हथियार पहुंचाने के खबरें सामने आ रही है। इसी कारण यूक्रेन में फंसे भारतीय नागरिक डरे हुए हैं और भारत लौटने की गुहार लगा रहे हैं।

Rajasthan Vidhansabha में स्पीकर ने जमकर सुनाई खरी खोटी, सुनिये- राजेंद्र राठौड़ पर कैसे बरसे

राजस्थान की और समाचार देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Rajasthan News