RJD-JDU में हो गई है डील? तेजस्वी के ऐलान के बाद सदन से ‘OUT’ रहे नीतीश के मंत्री-विधायक!

0
114

RJD-JDU में हो गई है डील? तेजस्वी के ऐलान के बाद सदन से ‘OUT’ रहे नीतीश के मंत्री-विधायक!

पटना : बिहार में ‘अग्निपथ’ को लेकर सियासत जारी है। सदन के अंदर और बाहर विपक्षी दलों ने केंद्र सरकार और बीजेपी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। बिहार विधानसभा में लगातार तीसरे दिन भी हंगामा होता रहा। इन सब के बीच विपक्षी दलों ने मंगलवार को अग्निपथ पर चर्चा के लिए कार्य स्थगन प्रस्ताव दिया। इसे स्वीकृत नहीं किए जाने पर तमाम विपक्षी दलों ने सदन की कार्यवाही का बहिष्कार कर दिया। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के ऐलान के बाद विपक्षी दल का कई भी विधायक सदन के अंदर नहीं आया।

इसके अलावा, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू के मंत्री और विधायक भी सदन में नजर नहीं आए। हालांकि जेडीयू तीन मंत्री लेसी सिंह, सुनील कुमार और शीला मंडल सदन में मौजूद रहे, लेकिन कुछ ही देर बाद तीनों सदन से निकल गये। इसके बाद कयासों का दौर शुरू हो गया और चर्चाओं का बाजार भी गर्म हो गया। कहा जा रहा है कि क्या जेडीयू भी अग्निपथ योजना को लेकर विपक्ष का साथ दे रहा है?
अग्निपथ पर BJP-JDU की तकरार के बीच पटना में धर्मेन्द्र प्रधान, CM नीतीश से मुलाकात के बाद BJP नेताओं के साथ की बैठक
इत्तेफाक या प्रेशर पॉलिटिक्स?
बताया जा रहा है कि जेडीयू के सभी विधायक और मंत्री, मुख्य सचेतक श्रवण कुमार के विधानसभा स्‍थि‍त दफ्तर में बैठे हुए थे और वहां पर किसी मुद्दे पर चर्चा कर रहे थे। इधर, सत्ता पक्ष के सदन से बाहर रहने पर बिहार विधानसभा अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही बुधवार 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया। इस बाबत जब जेडीयू कोटे से मंत्री लेसी सिंह से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि विधानसभा में कोई महत्वपूर्ण एजेंडा नहीं था, इसलिए हमलोग थोड़ा लेट आए। वहीं, जेडीयू विधायक संजीव सिंह ने कहा कि ऐसा नहीं है कि हम लोग कोई प्लानिंग के तहत सदन में नहीं गए। ये सब एक इत्तेफाक है।
navbharat times -अग्निपथ पर नीतीश की चुप्पी और 3 घंटे तक MP-MLA से मंथन, गेम प्लान की तैयारी तो नहीं?
इधर, इस प्रकरण के बाद सियासी गलियारों में चर्चाओं का बाजार गर्म है। कयास लगाया जाने लगा कि कहीं आरजेडी-जेडीयू में डील तो नहीं हो गई है? हालांकि बीजेपी विधायक हरिभूषण ठाकुर बचौल ने कहा कि बीजेपी- जेडीयू में कोई मतभेद नहीं है। इस पर किसी को संशय नहीं होना चाहिए। हमलोग साथ-साथ हैं। हालांकि जानकार कह रहे हैं ये सब इत्तेफाक नहीं हो सकता। बीजेपी पर प्रेशर बनाने के लिए ये सब हुआ है।
navbharat times -दिग्गजों के बीच PM मोदी ने ललन सिंह को दिया ‘भाव’, बिहार में चर्चाओं का बाजार गर्म
तकरार के बीच पटना में धर्मेन्द्र प्रधान
इधर,बीजेपी-जेडीयू के बीच जारी घमासान के बीच केंद्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान पटना पहुंचे हैं। पटना पहुंचते ही सबसे पहले वे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात की। बाद केंद्रीय मंत्री भीखू भाई दलसानिला के आवास पर पहुंचे थे। वहां बिहार बीजेपी के अध्यक्ष संजय जायसवाल, केंद्रीय मंत्री नित्यानंद राय, बिहार के उप मुख्यमंत्री रेणु देवी, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे सहित बीजेपी के कई नेता मौजूद थे। हालांकि इस बैठक में किस मुद्दे पर चर्चा हुई, इस बात की जानकारी नहीं मिल पायी है।
navbharat times -Presidential Election : ‘गांठ’ पर भारी BJP की सियासी चाल, राष्ट्रपति चुनाव में ऐसे ‘फंस’ गए नीतीश कुमार!
विवाद को पाटने के लिए पटना आए हैं धर्मेन्द्र प्रधान?
खबरों के अनुसार,केंद्रीय मंत्री धमेंद्र प्रधान बीजेपी और जेडीयू के बीच चल रहे विवाद को पाटने के लिए पटना आए हैं। यही कारण है कि सबसे पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात की, उसके बाद बीजेपी के नेताओं से। हालांकि अभी जेडीयू की तरफ से इस मुलाकात पर कोई बयान नहीं आया है। केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान का बिहार दौरा एनडीए गठबंधन के लिए काफी अहम माना जा रहा है। दरअसल, बिहार में ‘अग्निपथ’ को लेकर हुए बवाल के बाद बीजेपी और जेडीयू में खटास बढ़ गई है। दोनों दल के नेता एक दूसरे पर जमकर हमला बोल रहे हैं।

बिहार की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Delhi News