रोहिंग्या मसले पर गृहमंत्री राजनाथ की दो टूक!

0
रोहिंग्या मसले पर गृहमंत्री राजनाथ की दो टूक!
रोहिंग्या मसले पर गृहमंत्री राजनाथ की दो टूक!

देश समेत पूरे विश्व में रोहिंग्या मामला चरम पर है। हर देश रोहिंग्या को दूसरे देश में रखने की सलाह दे रहा है, लेकिन कोई भी देश रोहिंग्या को अपने यहाँ रखने को तैयार नहीं है। रोहिंग्या मुस्लिम को लेकर भारत में जमकर सियासी ड्रामा भी देखने को मिल रहा है। आपको याद दिला दें कि केंद्र सरकार रोहिंग्या मुस्लिम को रखने के लिए राजी नहीं है, तो विपक्ष रोहिंग्या को शरण देने के पक्ष में दिखाई दे रही है। आपको बता दें कि केंद्र सरकार ने कोर्ट में एक याचिका दाखिल की है, जिसमें रोहिंग्या देश के लिए खतरा है, इसका जिक्र किया गया है। हालांकि कोर्ट का फैसला ही अंतिम होगा, तो देखना ये होगा कि कोर्ट इस मुद्दे पर क्या फैसला करता है? इन तमाम बातों के बीच गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने एक बड़ा बयान दिया है। आइये आपको बताते है कि राजनाथ सिंह ने रोहिंग्या मसले पर क्या कहा है?

आपको बता दें कि रोहिंग्या मसले पर गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि म्यांमार से आए ये रोहिंग्या शरणार्थी नहीं हैं। जी हाँ गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि रोहिंग्या रिफ्यूजी के तौर पर भारत नहीं आए हैं, बल्कि ये देश के लिए खतरा हैं।

राजनाथ सिंह ने ये भी कहा……
आपको बता दें कि दिल्ली में एक कार्यक्रम के दौरान गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि अगर भारत रोहिंग्या को स्वीकार नहीं करता है तो लोगों को आपत्ति क्यों है? आपको बता दें कि राजनाथ सिंह ने रोहिंग्या मुस्लिम को देश में न रखने की बात करते हुए कहा कि रोहिंग्या को बर्मा रखने को तैयार है, लेकिन फिर भी ये वहाँ नहीं जा रहे है, और लोग इन्हें शरणार्थी मानकर इनका समर्थन कर रहे है। देश की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए रोहिंग्या देश के लिए खतरा है, ऐसे में किसी को भी इस बात से आपत्ति नहीं होनी चाहिए।

जीएसटी पर भी बोले राजनाथ….

आपको बता दें कि कार्यक्रम के दौरान राजनाथ सिंह जीएसटी पर भी बोले। जीएसटी को लेकर राजनाथ सिंह ने कहा कि जीएसटी भले ही अभी लोगों को तकलीफ दे रही है, लेकिन आने वाले दिनों में इसका सबसे बड़ा फायदा आम नागरिकों को ही मिलेगा। इसके साथ ही राजनाथ सिंह ने यह भी कहा कि जीएसटी का फायदा 2022 तक दिखेगा, जब लोगों के पास अपना मकान होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

10 − 7 =