राजस्थान सरकार ने बजट में शिक्षा को दी प्राथमिकता

BUDGET
BUDGET

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने कार्यकाल का दूसरा बजट पेश किया है। बजट को पेश करने से पहले ही सीएम अशोक गहलोत ने देश की अर्थव्यवस्था पर चिंता जताते हुए कहा कि भारत की अर्थव्यवस्था की स्थिति काफी खरब है। देश की आर्थिक तंगी से गुज़र रहा है। साथ ही उन्होंने यह भी ऐलान किया की सरकार सभी सरकारी स्कूलों में शनिवार को ‘नो बैग डे’ घोषित करेगी, ताकि स्कूलों में पढ़ने वाले छात्र छात्राओं के पढ़ाई के बोझ से कुछ हद तक कम किया जा सके। साथ ही बजट में कृषि के लिए 3420 करोड़ रुपये का ऐलान किया गया है।

अगर राजस्थान में पेश हुए बजट की बात की जाए तो राजस्थान सरकार द्वारा महंगाई भत्ते 5 फीसदी इजाफे की घोषणा की गई है। यह सरकारी कर्मचारियों के लिए एक बहुत बड़ी सौगात है। इसके साथ ही कर्मचारियों को अब 12 प्रतिशत के बजाय 17 प्रतिशत महंगाई भत्ता मिलेगा। साथ ही महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए 100 करोड़ की घोषणा की गई है। स्वास्थ्य सेवाओं के लिए 14 हजार करोड़ से ज्यादा का प्रावधान भी बजट में शामिल किया गया है।


सभी सरकारी स्कूलों में शनिवार को नो बैग डे घोषित किया जाएगा। इससे स्कूलों में पढ़ने वाले छात्र छात्राओं के पढ़ाई के बोझ से कुछ हद तक मुक्ति मिलेगी। इस दिन स्कूलों में पढ़ाई नहीं होगी। शिक्षा का विकास के मकसद से राजस्थान सरकार ने इसे शामिल किया है।

यह भी पढ़ें : तमिलनाडु में हुए सड़क हादसे में 19 लोगों की जान गई

आपको साथ ही यह भी बताना चाहेंगे कि राजस्थान सरकार द्वारा जो पिछला बजट पेश किया गया था उसके मुताबिक सरकार की आय और खर्च का जो अनुमान लगाया गया था, उसके मुकाबले काम बहुत कम हुआ है। अब राजस्थान सरकार ने दूसरा बजट पेश किया है उसके अनुसार शिक्षा , स्वास्थ्य को प्राथमिकता दी गई है।