आरएसएस मानहानि मामले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अदालत में हुए पेश

1

मुंबई: आरएसएस मानहानि केस में राहुल को आज भिवंडी अदालत की तरफ से एक बड़ा झटका लगा है. महात्मा गांधी की हत्या के पीछे आरएसएस का हाथ होने का विवादित भाषण देने वाले मसले पर राहुल अब मुश्किलों के दायरों में नजर आ रहे है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल पर महाराष्ट्र की भिवंडी कोर्ट ने आरोप तय किया है. राहुल गांधी पर आईपीसी की धारा 499 और 500 के तहत केस चलेगा. सुनवाई की दौरान राहुल ने अपने ऊपर लगे आरोपों को स्वीकार नहीं किया और अपने को निर्दोष बताया है. इस दौरान उनके साथ महाराष्ट्र के पूर्व सीएम अशोक चव्हाण और अशोक गहलोत भी रहे है.

क्या है मामला

दरअसल राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) राजेश कुंटे ने साल 2014 में भिवंडी में राहुल गांधी का विवादित भाषण सुनने के बाद उनके खिलाफ मानहानि का केस दर्ज किया. इस विवादित भाषण में राहुल ने कहा कि महात्मा गांधी की हत्या के पीछे आरएसएस का हाथ है. जिसके कारण आज उन्होंने भिवंडी कोर्ट में पेश होना पड़ा.

यह भी पढ़ें: मोदी सरकार की निंदा करते समय राहुल ने खुद के पैर पर मारी कुल्हाड़ी, पाकिस्तान से की भारत की तुलना

राहुल आज करीब 11 बजे ठाणे में भिवंडी की अदालत में हाजिर हुए है. उनकी सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए अदालत और आसपास के क्षेत्र में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गए. आपको बता दें कि आरएसएस कार्यकर्त द्वारा लगाए गए मानहानि केस में लिखित हलफनामा के बजाय बयान दर्ज करने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष की याचिका पर कोर्ट की सुनवाई करने के बाद अगली डेट 12 जून की दी है. ऐसे केस में समन्स ट्रायल यानी लिखित बयान के आधार पर सुनवाई होती है, लेकिन राहुल गांधी ने समन्स ट्रायल का अनुरोध करते हुए पिछले महीने एक याचिका दायर की थी. राहुल गांधी के वकील नारायण अय्यर ने बताया है कि ये मामला ऐतिहासिक तथ्यों से संबंधित है, इसलिए उन्हें कई दस्तावेजों का सहारा लेना होगा और विशेषज्ञों के बयान दर्ज करवाने होंगे.

शक्ति परियोजन की करेंगे शुरुआत

जानकारी के अनुसार, कोर्ट में पेश होने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल शाम को तकरीबन चार बजे मुंबई के गोरेगांव में कांग्रेस के कार्यकर्ताओं की बैठक में शामिल होंगे. इसके बाद वह पार्टी के नगर सेवकों से भी वार्ता करेंगे. इस दौरान वह शक्ति नाम की एक परियोजना की भी शुरुआत करेंगे, जिससे पार्टी कार्यकर्ताओं से सीधा संवाद कायम किया जा सकेगा और विभिन्न मुद्दों पर उनकी राय ली जा सकेगी.

 

 

 

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eighteen + ten =