पीवी सिंधू, बेन स्टोक्स और इंडियन क्रिकेट टीम ने संडे को बनाया फनडे

0
P V Sindhu, Ben Stokes and Indian Cricket Team
P V Sindhu, Ben Stokes and Indian Cricket Team

25 अगस्त रविवार का दिन खेल के लिए बहुत ही चमत्कारिक रहा। एक तरफ भारत की बेटी पीवी सिंधू ने BWF चैंपियनशिप जीती। क्रिकेट में भारत ने वेस्टइंडीज को हराया। आंजिक्य रहाणे ने इस मैच में शतक जमाया। वहीं क्रिकेट में एक और कारनामा देखने को मिला। इंग्लैंड में चल रहे एशेज सीरीज के एक मैच में बेन स्टोक्स ने शानदार पारी खेलकर इंग्लैंड को ऑस्ट्रेलिया पर जीत दिलाई। आइये जानते हैं तीनो खिलाड़यों के बारें में और उनके रिकॉर्ड के बारें में-

पीवी सिंधू ने किया कमाल

P V Sindhu
P V Sindhu
Install Kare Flipcart App aur Paaye Rs.500 PayTm Par Turant

भारत की बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधू ने BWF चैंपियनशिप जीतकर रिकॉर्ड बनाया है। ऐसा करने वाली पीवी सिंधू पहली भारतीय बन गयी है। आपको बता दें कि सिंधू इससे पहले भी इस चैंपियनशिप के फ़ाइनल में पहुंच चुकी थी। लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। लेकिन इस बार उन्होंने नोजोमी ओकुहारा को हराकर इस ख़िताब को अपने नाम किया।

पिछली बार ओकुहारा ने सिंधू को फाइनल में हराया था। इस बार के फ़ाइनल में सिंधू ने अपनी पिछली हार का बदला लेते हुए बहुत बुरी तरह से ओकुहारा को केवल 37 मिनट में ही हरा दिया। सिंधू ने ओकुहारा को 21-7 21-7 से हराया।

सिंधू को इस जीत के लिए पूरी दुनिया से बधाई मिली।

भारत ने वेस्टइंडीज को हराया

भारत ने पहले टेस्ट चैंपियनशिप के पहले मैच में वेस्टइंडीज पर 318 रन की शानदार जीत दर्ज की। इस जीत में जसप्रीत बुमराह ने मेजबान टीम के पांच विकेट झटके। बुमराह के अलावा इस मैच में अजिंक्य रहाणे और हनुमा विहारी हीरो रहे। अंजिक्य रहाणे ने पिछले दो साल में अपना पहला शतक लगाया था।

यह भी पढ़ें: भारतीय क्रिकेट इतिहास में 10 खिलाड़ी ऐसे हुए, जिन्हें खराब प्रदर्शन के बावजूद भी कप्तान के तौर पर अजहर, गांगुली, धोनी और विराट देते रहे मौका

वेस्टइंडीज 419 रन के लक्ष्य का पीछा कर रही थी, लेकिन बुमराह की अगुवाई में भारतीय पेसरों ने मेजबान टीम को ध्वस्त कर दिया। वेस्टइंडीज चौथे दिन के अंतिम सत्र में 26.5 ओवरों में सिर्फ 100 रन बनाकर ऑल आउट हो गई।

यह बुमराह का सबसे शानदार प्रदर्शन था, क्योंकि उन्होंने आठ ओवरों के दौरान सिर्फ सात रन दिए। अपने 10 वें टेस्ट को खेलते हुए वह 50 टेस्ट विकेट लेने वाले सबसे तेज भारतीय तेज गेंदबाज बन गए।

बुमराह ने घरेलू बल्लेबाजों को परेशान करने के लिए गेंद को दोनों तरफ से घुमाया जबकि इशांत शर्मा (3/31) और मोहम्मद शमी (2/13) ने भी भारत की शानदार जीत में योगदान दिया जिससे भारत ने दो मैचों की श्रृंखला में 1-0 की बढ़त मिली।

केमर रोच (38), मिगुएल कमिंस (नाबाद 19) और रोस्टन चेज (12) एकमात्र ऐसे बल्लेबाज थे, जो दोहरे अंकों तक पहुंचे। रोच ने कमिंस के साथ आखिरी विकेट के लिए 50 रन जोड़े लेकिन यह भी भारत को जीत न दिला सका।

रनो के हिसाब से यह भारत की चौथी सबसे बड़ी टेस्ट जीत है, लेकिन टेस्ट में सबसे बड़ी जीत के रूप में 2015-16 में दिल्ली में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 336 रन से जीतना भारत का अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है।

चौथे दिन की शुरुआत 185 पर तीन विकेट से करने के बाद रहाणे ने 102 रनों की पारी खेली, लेकिन युवा बल्लेबाज हनुमा विहारी (93) अपने पहले टेस्ट मैच में शतक सिर्फ सात रन से चूक गए।

इंग्लैंड के बेन स्टोक्स का कमाल

अभी एकदिवसीय क्रिकेट वर्ल्ड कप जीते इंग्लैंड को कुछ ही महीने हुए हैं इस बीच बेन स्टोक्स ने इंग्लैंड को एक और शानदार जीत दिलाई है। रविवार को हेडिंग्ले में इंग्लैंड का 9 वां विकेट गिरने के बाद 42 गेंदों में बेन स्टोक्स ने 74 रन बनाए। उन्होंने सुनिश्चित किया कि इंग्लैंड के नंबर 11, जैक लीच ने 10 वें विकेट के लिए 76 रन की पार्टनरशिप में सिर्फ 1 रन बनाया। यह जीत बरसों तक याद की जायेगी। बेन स्टोक्स ने नाबाद 135 रनो की शानदार पारी खेली।