सौगंध मुझे इस मिट्टी की मैं देश नही बिकने दूंगा…… लेकिन निजीकरण तो कर सकता हूँ

0

दिल्ली से लखनऊ चलने वाली ट्रेन तेजस एक्सप्रेस आजकल अपने निजीकरण होने के कारण चर्चा में है. असल में यह ऐसी पहली ट्रेन होगी जिसको कोई निजी कंपनी चलाएगी. ऐसे में लोगो की प्रतिक्रियाएं भी इसको लेकर मिली-जुली आ रही हैं. 

कुछ ट्विटर यूजर्स ने सरकार के इस फैसले को लेकर ख़ुशी जताई है, तो वही कुछ ट्विटर यूजर्स ने इस मसले में अडानी और अम्बानी जैसे बड़े उद्योगपतियों को बीच में ले कर आये हैं. वैसे इस फैसले का स्वागत करने वाले लोगों का तर्क है कि अब ट्रेन में रिजर्वेशन को लेकर होने वाली दुश्वारियां ख़त्म हो जाएँगी. 

अब आप खुद ही शकुनी मामा के नाम के ट्विटर यूजर का ट्वीट पढ़िए..

इसके अलावा अभिनव चुग नामक एक ट्वीटर यूजर ने भी ट्रेन के प्राइवेट होने के इस फैसले का स्वागत किया है और कहा है कि “यह बहुत ही अच्छी खबर है कि निजी क्षेत्र भारत में ट्रेनें चलाएगा… इस पल का मैं बहुत लंबे वक्त से इंतजार कर रहा था. जो लोग इससे बहुत परेशान हैं वे जरा कल्पना करें कि अगर देश में सिर्फ एयर इंडिया, बीएसएनएल और एसबीआई ही होते तो हमारी जिंदगी कैसी होती!”

इसके अलावा मनीष परमार नाम के एक ट्विटर यूजर ने मजाकिया अंदाज़ में अपने ट्विटर पेज पर लिखा है कि दिल्ली-लखनऊ के बीच चलने वाली तेजस एक्सप्रेस प्राइवेट होने वाली है… ये ट्रेन बिकाऊ है! कोई है तैयार? नहीं तो बाद में मत कहना कि अडानी को दे दी.