एक साल में कितना बढ़ेगा अनाज का दाम ?

0
एक साल में कितना बढ़ेगा अनाज का दाम ।

सरकार ने खाद्य क़ानून के तहत राशन कि दुकानों के जरिये बेचे जाने वाले अनाज का मूल्य एक साल और नहीं बढ़ाने का फैसला किया है । खाद्य मंत्री राम विलास पासवान ने ट्विटर पर यह जानकारी दी । वर्ष 2013 में पारित राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा क़ानून (एनएनएसए) के तहत अनाज के दाम में हर तीन साल बाद समीक्षा का प्रावधान है । फिलहाल इस क़ानून के तहत सरकार देश में 81 करोड़ लोगो को एक से तीन रूपये किलो के भाव पर अनाज उपलब्ध करा रही है । इससे सरकारी खजाने पर सालाना 1.4 लाख करोड़ रूपये का बोझ पड़ रहा है।
खाद्य मंत्री ने ट्विटर पर लिखा है कि प्रधानमंत्री ने एनएफएसए के तहत एक और वर्ष के लिए खाद्यान कि कीमत नहीं बढ़ाने का फैसला किया है।

आवंटन में आरक्षण मिले
पासवान ने राज्यों से राशन दुकानों के आबंटन में आरक्षण नीति का पालन करने और अनुसूचित जाति एवं जनजाति को इस मामले में प्राथमिकता सुनिश्चित करने के लिए सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखा है।

साथ ही आप को बता दे सब्जियों के दामों में टमाटर के दाम आसमान छू रहे है। बारिश के कारण सब्जियों के दामों में अंतर देखने को मिला मगर सबसे ज्यादा टमाटर के दामों में बढ़ोतरी दर्ज की गई।

एक सप्ताह में 62% भाव बढ़ा

दिल्ली में टमाटर के भाव जोरदार तेज़ी के साथ 60 रूपये प्रति किलो तक पहुंच गए है । इसमें एक हफ्ते के भीतर 62 फीसदी की वृद्धि हुई है । कुछ उत्पादक राज्यों में फसल नष्ट होने से टमाटर का बाजार प्रभावित हुआ है । जबकि सरकार का कहना है कि कीमतों में उतार-चढ़ाव मौसम की वजह से है ।

आवश्यक वस्तुओं की कीमतें जारी करने वाली सरकारी एंजेंसियों के अनुसार राजधानी दिल्ली में टमाटर का खुदरा मूल्य 58 से 60 रूपये प्रति किलो रहा । जबकि इसका थोक मूल्य 27 रूपये प्रति किलो था । राष्ट्रीय राजधानी में 21 जून को टमाटर का खुदरा मूल्य 37 रूपये प्रति किलो था और इस दिन इसका थोक मूल्य 15.25 रूपये प्रति किलो था । इस प्रकार पिछले एक सप्ताह में टमाटर के खुदरा सरकारी मूल्य में 62 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि हुई है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

1 + twelve =