राष्ट्रपति चुनाव में विपक्ष ‘पस्त’।

0

भाजपा की तरफ से रामनाथ कोविन्द के बाद विपक्ष में अफरा-तफरी मच गयी थी उसके बाद ही विपक्ष ने अपना उम्मीदवार जोरो-शोरो से तैयार किया. विपक्ष की तरफ से राष्ट्रपति चुनाव के लिए मीरा कुमार आगे आई. लेकिन सोमवार को राष्ट्रपति वोटिंग के दौरान विपक्ष के तेवर थोड़े पस्त लगे. सोमवार को विपक्ष के नेताओं की बॉडी लैंग्वेज और उनके बयान बता रहे थे कि वे हारी हुई लड़ाई लड़ रहे हैं. हालांकि एनडीए प्रत्याशी रामनाथ कोविंद की जीत तो पहले से ही तय मानी जा रही थी, लेकिन विपक्ष ने जिस उत्साह के साथ मीरा कुमार को मैदान में उतारा था, वह जोश वोटिंग वाले दिन नजर नहीं आया. ऊपर से कुछ जगहों पर क्रॉस वोटिंग ने भी विपक्ष को झटका देने का काम किया.

विपक्षी एकता की अहम साझीदार ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस के विधायकों ने त्रिपुरा में मीरा कुमार को वोट न देने का ऐलान किया. उन्हें सीपीएम को साथ लिए जाने पर एतराज था. त्रिपुरा ने कहा कि हम रामनाथ कोविंद को वोट देंगे ,जो सीपीएम के खिलाफ है हमारे छह विधायक कोविंद को वोट देंगे.

सपा से शिवपाल और मुलायम सिंह यादव भी रामनाथ कोविंद को वोट देने का एलान पहले ही कर चुके थे. बस अखिलेश यादव मीरा कुमार के समर्थन में थे. आम आदमी पार्टी ने मीरा कुमार को समर्थन देने का ऐलान किया था, लेकिन खबरें आ रही हैं कि पंजाब विधानसभा में कुछ आप विधायक एनडीए उम्मीदवार कोविंद को वोट दे सकते हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

sixteen + 1 =