पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन लागू होना चाहिए : कांग्रेस सांसद

0

कमिश्नर राजीव कुमार पर CBI की कार्रवाई के ख़िलाफ़ धरने पर बैठी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को जहां एक तरफ़ तमाम विपक्षी पार्टियों का समर्थन मिल रहा है और मोदी सरकार के ख़िलाफ़ विपक्षी पार्टियां ने मोर्चा खोला हुआ है। ऐसे में कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल के ममता बनर्जी के समर्थन में दिए बयान से अलग सुर अलापने शुरू कर दिए हैं। अधीर ने कहा है कि राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू होना चाहिए। इससे पहले कांग्रेस सांसद ने ममता के धरने को नाटक बताया था।

क्या है राष्ट्रपति शासन ?

भारतीय संविधान के अनुच्छेद 356 में राष्ट्रपति शासन का ज़िक्र किया है। जिसके तहत राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाया जाता है। इसमें राज्य सरकार को बर्ख़ास्त करके राज्य की क़मान सीधे राज्यपाल के हाथों में चली जाती है। राष्ट्रपति शासन लगने के 6 महीने के अंदर उस राज्य में विधानसभा चुनाव कराने ज़रूरी होते हैं। राज्य विधानसभा में बहुमत न होने पर, मुख्यमंत्री का न होना, गठबंधन का टूट जाना.. इन्हीं परिस्थितियों की वजह से राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाया जाता है।