PM मोदी ने 9 साल में राजस्थान को क्या दिया, 2023 के विधानसभा चुनाव में इनका क्या होगा इम्पैक्ट?

18
PM मोदी ने 9 साल में राजस्थान को क्या दिया, 2023 के विधानसभा चुनाव में इनका क्या होगा इम्पैक्ट?

PM मोदी ने 9 साल में राजस्थान को क्या दिया, 2023 के विधानसभा चुनाव में इनका क्या होगा इम्पैक्ट?

जयपुर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोटा में अपनी केंद्र की सरकार के 9 साल पूरे होने का जश्न मनाकर राजस्थान विधानसभा चुनाव 2023 के प्रचार कार्यक्रम का भी आगाज कर दिया है। पिछले 9 साल की राजनीति पर नजर डालें तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चहरे पर राजस्थान की जनता ने दिल खोलकर भरोसा जताया है। इसकी बानगी इससे समझी जा सकती है कि 2014 के बाद 2019 के लोकसभा चुनाव में राजस्थान की सभी 25 सीटें बीजेपी के खाते में गई। 2019 की 25 सीटें इसलिए खास है क्योंकि ठीक एक साल पहले 2018 के नवंबर दिसंबर में अशोक गहलोत की अगुवाई में कांग्रेस की सरकार बनी थी, जिसके बावजूद राजस्थान की जनता ने पीएम मोदी पर भरोसा जताते हुए सभी सीटों पर बीजेपी कैंडिडेट की जीत सुनिश्चित की। 2019 के लोकसभा चुनाव में अशोक गहलोत के सीएम रहते हुए उनके बेटे वैभव गहलोत भी चुनाव नहीं जीत पाए।हालांकि पीएम मोदी ने भी राजस्थान को सौगातें देने में दरियादिली दिखाई है। पिछले 9 साल में केंद्र सरकार की राजस्थान में 5500 करोड़ घोषित हुई हैं। इसमें से कुछ योजनाएं शुरू हो चुकी हैं तो कुछ पर काम चल रहा है। पीएम मोदी और केंद्र की राजस्थान में बड़ी घोषणाओं पर नजर डालें तो 19 फरवरी 2019 को सूरतगढ़ से मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना की शुरुआत की गई। 16 जनवरी 2018 को बाड़मेर के पचपदार में रिफाइनरी की शुरुआत की गई।

Rajasthan Politics : बेनीवाल भड़के मोदी-वसुंधरा पर, दूसरी तरफ इशारों में जानिए पायलट को क्या दिया ऑफर

पीएम की सौगात, CM भी कर चुके हैं तारीफ

पीएम मोदी ने इस कदर राजस्थान में विकास योजनाएं शुरू की कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी खुले मंच से इसकी तारीफ कर चुके हैं। सीएम अशोक गहलोत की डिमांड पीएम मोदी ने राजस्थान के उन इलाकों में ट्रेन सेवाएं शुरू की, जिसकी लंबे समय से डिमांड चल रही थी। इसके अलावा पर्यटन क्षेत्रे विस्तार में भी केंद्र ने राजस्थान सरकार की हरसंभव मदद की है। कोरोना काल में राजस्थान में जिस तरह से काम हुए उसकी तारीफ भी खुद पीएम मोदी सार्वजनिक रूप से कर चुके हैं। 2018 के बाद गैर बीजेपी शासित राज्यों में राजस्थान उन चुनिंदा राज्यों में है जिसका मोदी सरकार से कभी भी टकराव देखने को नहीं मिला। विकास कार्यों को लेकर सीएम अशोक गहलोत और पीएम मोदी के बीच सामंजस्य देखने को मिलता रहा।
PM मोदी की ज‍िद सकारात्मक होती तो कितना अच्छा होता, CM गहलोत के इस अटैक के मायने समझिए

राजस्थान के कई नेताओं को पीएम ने दिए अहम पद

विकास योजनाओं के अलावा राजनीतिक रूप से भी पीएम मोदी ने पिछले नौ साल में राजस्थान को काफी कुछ दिया है। पीएम मोदी ने ना केवल पार्टी में बल्कि केंद्र की सरकार में भी राजस्थान के कई नेताओं को अहम जिम्मेदारी सौंपी। आइए उसपर एक नजर डालते हैं।

2014-2019 का कार्यकाल: राजस्थान के 6 सासंदों को मंत्रिमंडल में जगह दी, जिसमें श्रीगंगानगर सांसद निहालचंद मेघवाल, बीकानेर सांसद अर्जुनराम मेघवाल, जोधपुर सांसद गजेंद्र सिंह शेखावत, पाली सांसद पीपी चौधरी, नागौर सांसद सीआर चौधरी और जयपुर ग्रामीण सांसद राज्यवर्धन सिंह राठौड़ को केंद्र सरकार में मंत्री बनाया गया। इसके अलावा बीजेपी की केंद्रीय टीम में भूपेंद्र यादव, ओम माथुर, सुनील बंसल को महत्वपूर्ण पद दिया गया। भूपेंद्र यादव को बिहार जैसे महत्वपूर्ण राज्य की जिम्मेदारी सौंपी गई तो सुनील बंसल को उत्तर प्रदेश जैसे राज्य का प्रभारी बनाया गया। ओम माथुर बीजेपी की केंद्रीय टीम में अहम रोल में रहे।
navbharat times -राजस्थान: Hanuman Beniwal ने फिर राजे पर निकाली भड़ास, कहा ‘भ्रष्ट वसुंधरा को पीएम मोदी ने पास बैठाया’
2019-2024 का कार्यकाल: लोकसभा स्पीकर का पद राजस्थान के कोटा सीट से सांसद ओम बिड़ला को मिला। जोधपुर के सांसद गजेंद्र सिंह शेखावत को प्रमोट कर केंद्रीय मंत्री बनाया गया। बाड़मेर सांसद कैलाश चौधरी को कृषि राज्य मंत्री बनाया गया। बीकानेर सांसद अर्जुन मेघवाल को देश का कानून मंत्री बनाया गया। जहां तक पार्टी का सवाल है तो वसुंधरा राजे सिंधिया को केंद्रीय उपाध्यक्ष और ओम माथुर को केंद्रीय चुनाव सिमिति में शामिल किया गया। इसके अलावा उपराष्ट्रपति का पद भी राजस्थान शेखावटी इलाके से आने वाले जगदीप धनकड़ को दिया गया।

राजस्थान की और समाचार देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Rajasthan News