आंध्र प्रदेश में लांच हुआ ‘पीपुल-फर्स्ट’ ऐप!

आंध्र प्रदेश में लांच हुआ 'पीपुल-फर्स्ट' ऐप!
आंध्र प्रदेश में लांच हुआ 'पीपुल-फर्स्ट' ऐप!

कोई भी लोकतांत्रिक देश में जब तक जनता और सरकार में सीधा संवाद न हो तब तक सरकार काम करने में सफल रही है या नहीं इस बात का पता नहीं चल पाता है। लोकतांत्रिक देश की नींव ही जनता-सरकार के बीच संवाद से टिकी हुई होती है। अगर दोनों में संवाद होना बंद हो जाए तो देश के लिए खतरा हो जाता है। सरकार और जनता के बीच तालमेल बिठाने की कड़ी में बीजेपी आगे दिखती है। आपको बता दें कि बीजेपी यह कोशिश कर रही है कैसे जनता से सीधा संवाद किया जाए, यही कारण है कि इसी कड़ी में पीपुल फर्स्ट एप लांच किया गया है। आइये आपको बताते है कि यह ऐप क्या है और ये किस तरह से काम करेगा।

आपको बता दें कि जनता से सीधे जुड़ने की मोदी सरकार की मुहिम सिर्फ बीजेपी शासित राज्यों को ही नहीं बल्कि सहयोगी दलों की सरकारों को भी उत्साहित कर रहीं हैं। जी हाँ, बीजेपी की सहयोगी टीडीपी शासित राज्य आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने भी एक अनोखी पहल की है, जिससे जनता से सीधे जुड़ा जा सकता है।

खबर के मुताबिक, सरकारी योजनाओं और सेवाओं के खिलाफ जनता की शिकायतें सीधी सरकार तक पहुंचे ये सुनिश्चित करने के लिए नायडू सरकार ने शुरु किया है ‘पीपुल-फर्स्ट’ ऐप, जी हाँ, इस ऐप की मदद से जल्दी ही शिकायतों का समाधान होगा। साथ ही आपको बता दें कि कलेक्टरों के सम्मेलन में सीएम चंद्रबाबू नायडू ने इस कार्यक्रम की शुरुआत की है।

ऐप से जल्द निवारण होगी शिकायत….

आपको बता दें कि आंध्र प्रदेश की सरकार की जनता की शिकायतों को आनन-फानन में निबटाने के लिए की गई शुरुआत है। साथ ही आपको यह भी बता दें कि इसके तहत अगर किसी भी आम नागरिक को सरकार की किसी भी योजना या फिर सेवाओं को लेकर कोई नाराजगी या शिकायत है तो वो सीधा 1100 नंबर डायल कर अपनी आवाज पहुंचा सकता है। इतना ही नहीं इस ऐप की मदद से जल्दी ही शिकायतों का निवारण किया जाएगा, क्योंकि इसके तहत की गई शिकायत उच्चअधिकारी तक पुहंचेगी।

सीएम ने की लोगों से अपील…
आपको बता दें कि सीएम ने इस ऐप को ज्यादा से ज्यादा लोगों से इस्तेमाल करने की अपील की है। इसके साथ ही सीएम को यह उम्मीद भी है कि यह प्रदेश की अस्सी फीसदी जनता द्वारा इस्तेमाल की जाएगी।