धोनी के ‘बलिदान’ वाले ग्लव्स पर ICC के विरोध पर लोगों ने BCCI से इसे न हटाने के लिए कहा

0
https://news4social.com/?p=48604

ICC ने BCCI से कहा है कि वे भारतीय क्रिकेट टीम के विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी से उनके दस्तानों पर बने सेना के चिन्ह को हटाने को कहें। ICC विश्व कप-2019 में भारत के पहले मैच में धोनी को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ विकेटकीपिंग दस्तानों पर भारतीय पैरा स्पेशल फोर्स के चिन्ह का पहने हुए देखा गया था। ICC ने BCCI से कहा है कि वह धोनी के दस्तानों पर से यह चिन्ह हटवाए। आईसीसी के महाप्रबंधक, रणनीति समन्व्य, क्लेयर फरलोंग ने आईएएनएस से कहा, ‘हमने BCCI से इस चिन्ह को हटवाने की अपील की है।’

धोनी के दस्तानों पर ‘बलिदान ब्रिगेड’ का चिन्ह है। सिर्फ पैरामिलिट्री कमांडो को ही यह चिन्ह धारण करने का अधिकार है। धोनी को 2011 में पैराशूट रेजिमेंट में लेफ्टिनेंट कर्नल के मानद उपाधी मिली थी। धोनी ने 2015 में पैरा ब्रिगेड की ट्रेनिंग भी ली है।

Loading...

हालांकि सोशल मीडिया पर लोगों ने धोनी के इस कदम की तारीफ़ की है। मीडिया के तमाम लोगों ने BCCI को अपना डिफेंड लेने को कहा है। इनमे सबसे ज्यादा इस धोनी के कदम की तारीफ़ करने वालों में सुधीर चौधरी, स्वेता सिंह, तारेक फ़तेह आदि शामिल है।

आपको बता दें कि वर्ल्ड कप के पहले मैच में भारत ने दक्षिण अफ्रीका को हराया था। इस मैच में धोनी ने विकटकीपिंग करते हुए जो ग्लव्स पहने थे उसमे ‘बलिदान’ का चिन्ह छपा हुआ था। जैसे ही यह फोटो सोशल पर वायरल हुई लोगो ने धोनी की तारीफ करनी शुरू कर दी। ICC के स्टैंड लेने के बाद लोगों ने BCCI से इस पर अपना जोरदार स्टैंड लेने को कहा है। लोगों ने तो यहाँ तक कह दिया है कि BCCI को देश और क्रिकेट में से एक को चुनना चाहिए।

यह भी पढ़ें: CWC 2019: रबाडा द्वारा झगड़ालु और अपरिपक़्व कहे जाने पर कोहली ने दिया ये जवाब

ICC के नियम के मुताबिक, ‘ICC टूर्नामेंट में कपड़ों या अन्य चीजों पर अंतरराष्ट्रीय मैच के दौरान राजनीति, धर्म या नस्लभेदी जैसी चीजों का संदेश नहीं होना चाहिए।’

गौरतलब है कि भारत ने अपना पहला मैच जीतकर टूर्नामेंट की अच्छी शुरआत की है। भारत का अगला मैच ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ है जो 9 जून को खेला जायेगा।