Pakistan Economic Crisis: दुनिया के टॉप 500 रईसों में नहीं है एक भी पाकिस्तानी, जानिए कितनी है पाकिस्तान के ‘अंबानी’ की नेटवर्थ

0
7

Pakistan Economic Crisis: दुनिया के टॉप 500 रईसों में नहीं है एक भी पाकिस्तानी, जानिए कितनी है पाकिस्तान के ‘अंबानी’ की नेटवर्थ


नई दिल्ली: पाकिस्तान बुरे आर्थिक हालात से गुजर रहा है। जानकारों की मानें तो पाकिस्तान के लिए 1971 के बाद यह सबसे खराब दौर है। देश में खानेपीने की चीजों, गैस, दवा और बिजली की भारी किल्लत हो गई है। देश की विदेशी मुद्रा भंडार नौ साल के न्यूनतम स्तर पर है। इससे केवल तीन हफ्ते का ही आयात हो सकता है। पाकिस्तान ने 24वीं बार आईएमएफ (IMF) से कर्ज की गुहार लगाई है लेकिन उसने शर्तें मानना पाकिस्तान के लिए आत्मघाती होगा। आईएमएफ ने देश में पेट्रोल और डीजल की कीमत बढ़ाने की शर्त रखी है। देश को इस स्थिति से उबारने के लिए पाकिस्तान के सबसे बड़े रईस मियां मोहम्मद मंशा (Miyan Mohammad Mansha) ने भारत के साथ बॉर्डर खोलने की हिमायत की है। मंशा का परिवार विभाजन के समय भारत से पाकिस्तान चला गया था। वह Nishat Group के चेयरमैन हैं। साल 2012 में उन्होंने भारत में बैंक खोलने की योजना बनाई थी लेकिन बात नहीं बन पाई।

पाकिस्तान को कोई भी शख्स दुनिया के टॉप 500 अमीरों की लिस्ट में शामिल नहीं है। ब्लूमबर्ग बिलिनेयर इंडेक्स के मुताबिक भारत के 20 रईस इस लिस्ट में शामिल हैं। अडानी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडानी (Gautam Adani) इस लिस्ट में चौथे और रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries) के चेयरमैन मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) 12वें नंबर पर हैं। गौतम अडानी की नेटवर्थ 120 अरब डॉलर और मुकेश अंबानी की नेटवर्थ 84.7 अरब डॉलर है। मियां मोहम्मद मंशा को पाकिस्तान का अंबानी कहा जाता है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उनकी नेटवर्थ एक अरब डॉलर के करीब है। वैसे उनकी नेटवर्थ में हाल के वर्षों में गिरावट आई है।

Pakistan Economic Crisis: सिर्फ बिजली ही नहीं कटी है, इस मामले में भी टांय-टांय फिस्स हो गया है पाकिस्तान, मचा है गजब कोहराम

मंशा का कारोबार

मंशा का जन्म 1947 में हुआ था। उनके पिता ने एक कॉटन मिल की स्थापना की थी जिसे आज निशत टेक्सटाइल्स मिल्स के नाम से जाना जाता है। मंशा 1969 में फैमिली बिजनस से जुड़े और इसे बुलंदियों पर पहुंचाया। 2005 में वह पाकिस्तान के सबसे अमीर शख्स बनकर उभरे। उनका कारोबार बैंकिंग, टेक्सटाइल्स, इंश्योरेंस, सीमेंट और पावर तक फैला है। मार्च 2010 में उन्हें फोर्ब्स की अरबपतियों की लिस्ट में जगह मिली। इस लिस्ट में वह 937वें नंबर पर थे। साल 2008 में उन्होंने मलेशिया के Maybank के साथ MCB Bank शुरू किया था।

navbharat times -Pakistan Economy Crisis : कंगाली में आटा गीला… पाकिस्तान के लिए बिल्कुल सच हो गई यह बात
साल 2012 में उन्होंने भारत में अपने बैंक की तीन ब्रांच खोलने के लिए आवेदन किया था। उनकी योजना दिल्ली, मुंबई और अमृतसर में ब्रांच खोलने की थी। मंशा ने तब दावा किया था कि पाकिस्तान के दो और बैंक भारत में कारोबार शुरू करने की योजना बना रहे हैं। लेकिन उनकी योजना कभी आगे नहीं बढ़ पाई। वैसे भारत के सरकारी बैंक पंजाब नेशनल बैंक ने भी पाकिस्तान के लाहौर में ब्रांच खोलने के लिए आरबीआई से अनुमति मांगी थी। पंजाब नेशनल बैंक की स्थापना 1894 में लाहौर में हुई थी।

राजनीति की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – राजनीति
News