भारतीय विमान पर किए गए हमले पर बोले पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान ख़ान , जवाब देना हमारी मजबूरी थी और दिया

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने पाकिस्तानी सेना द्वारा भारत के दो लड़ाकू विमानों के मार गिराने और दो पायलटों को गिरफ़्तार करने के दावों पर कहा कि उनकी सेना को (पाकिस्तानी सेना) को मजबूरी में जवाब देना पड़ा। इससे पहले पाकिस्तान की तरफ़ से बयान दिया था कि उसने भारत के दो लड़ाकू विमानों को मार गिराया है और दो भारतीय पालयटों को गिरफ़्तार कर लिया है।

कोई भी संप्रभु मुल्क़ ऐसे चुप नहीं बैठ सकता है : इमरान ख़ान

इमरान ख़ान ने कहा कि ”हमारी मजबूरी थी कि हम प्रतिक्रिया दें। कोई भी संप्रभु मुल्क़ ऐसे चुप नहीं बैठ सकता है। हम चुप रहकर ख़ुद को अपराधी नहीं बना सकते थे। हमने बुधवार को जवाब दिया और बताया कि आप हमारे मुल्क़ में आ सकते हैं। तो मैं भी आ सकता हूं।

इमरान ने कहा “मेरे पाकिस्तानियों”

पाकिस्तानी आवाम को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने कहा कि ”मेरे पाकिस्तानियों… कल से जो हालात बन रहे हैं उस पर मुझे आपसे कुछ कहना था। पुलवामा के बाद, मैंने भारत को जांच में सहयोग का ऑफर दिया था। मुझे पता है कि ऐसे हमलों में पीड़ित परिवारों पर क्या गुजरता है। इसलिए हमने सीधा-सीधा ऑफर किया था। हमने ये इसलिए कहा था कि हमारी ज़मीन का इस्तेमाल हो मगर, दहशतगर्द के लिए ना हो।