अटल नारायणी यात्रा से पूर्वांचल में खुलेंगे रोजगार के अवसर

0

उत्तर प्रदेश: देवरिया में दुदही ब्लाक के ग्राम अमवाखास स्थित नारायणी नदी के तट पर 19 नवंबर को अटल नारायणी संदेश यात्रा का शुभारम्भ  कार्यक्रम के मुख्य अतिथि नागरिक विमान उड्डयन मंत्री जयंत सिन्हा ने नारियल फोड़कर एवं हरी झंडी दिखाकर  किया|

नारायणी नदी के जलमार्ग को रोजगार एवं सृजन के नए आयाम स्थापित होंगे| श्री सिन्हा ने कहा की देश में कई नए एयरपोर्ट बनाकर आम जन के लिए सस्ती हवाई यात्रा सुलभ कराया जा रहा है| आयोजक व देवरिया लोकसभा के भाजपा नेता शशांक मणि ने कहा कि अटल नारायणी संदेश यात्रा एक सोच है जो  माँ नारायणी के आशीर्वाद से मूर्त रूप लेगी | अटल जी के नाम पर विकास रूपी यज्ञ की शुरुवात हुई है| इस यात्रा से नारायणी का विकास होगा|

अटल नारायणी यात्रा का अगला पड़ाव तमकुही क्षेत्र से शुरू हुआ वहाँ की जनता के लिए भविष्य में यह यात्रा वर्दान सावित होगी क्योंकि इस बड़ी गंडक नदी में यातायात की  सुबिधा शुरू होने से आम जन भी लाभान्वित हो सकेंगे| इसके साथ ही यहाँ  ब्यवसायिक गतिविधिया भी तेज हो जाएँगी तब छोटे उत्पादों को भी बड़े बाजार मुहैया होने लगेंगे| ये बातें अटल नारायणी संदेश के यात्रा के तीसरे पड़ाव पर प्रदेश सरकार के खाद्य एवं रसद विभाग के राज्यमंत्री अतुल गर्ग ने कही| उन्होंने बताया कि जलमार्ग का विकास बनारस से हल्दिया जलमार्ग की तरह कराया जायेगा| अमवाखास से पटना तक 20 बड़े नगरों से यह क्षेत्र सीधा जुड़ जायेगा| अपनी जान जोखिम में डालकर इस यात्रा के  संदेश को आगे बढ़ाते हुए 7 यात्रियों ने जलमार्ग के द्वारा  10 दिनों में  270 किलोमीटर की दुरी तय की| 27  को यात्रा के अंतिम पड़ाव को गाँधी घाट पटना में “अटल नारायणी यात्रा ” सफलतापूर्वक पूरा किया गया|