Nuh Violence Reason: ब्रजमंडल यात्रा, मोनू मानेसर के शामिल होने की अफवाह… हरियाणा के नूंह में क्यों भड़की हिंसा?

6
Nuh Violence Reason: ब्रजमंडल यात्रा, मोनू मानेसर के शामिल होने की अफवाह… हरियाणा के नूंह में क्यों भड़की हिंसा?

Nuh Violence Reason: ब्रजमंडल यात्रा, मोनू मानेसर के शामिल होने की अफवाह… हरियाणा के नूंह में क्यों भड़की हिंसा?

नूंह: गुरुग्राम से सटे नूंह में विश्व हिंदू परिषद की ब्रजमंडल यात्रा के दौरान हिंसा और बवाल के बाद हालात तनावपूर्ण हो गए। देखते ही देखते बवाल पत्थरबाजी, गोलीबारी और आगजनी में तब्दील हो गया। इस हिंसा में दो होमगार्ड जवान की मौत हो गई जबकि डीएसपी सहित 10 पुलिस अधिकारी व कर्मचारी घायल हैं। इसके अलावा 20 से ज्यादा नागरिकों के घायल होने की खबर है। जिसके चलते नूंह में दो दिन के लिए कर्फ्यू लगा दिया गया है। हालात पर काबू पाने के लिए पूरे इलाके में पैरामिल्ट्री की 20 कंपनियां तैनात की गई हैं। रेवाड़ी, गुड़गांव, पलवल, फरीदाबाद समेत 5 जिलों में धारा 144 लागू कर दी गई है। इंटरनेट को बंद कर दिया है। विश्व हिंदू परिषद का आरोप है कि उन्होंने प्रशासन को 6 महीने पहले ही यात्रा के बारे में बता दिया था। आरोप है कि यात्रा के साथ हरियाणा पुलिस के कुछ जवान भी थे। मगर जैसे ही यात्रा पर पथराव हुआ तो पुलिसकर्मी वहां से भाग गए। अब सवाल उठ रहा है कि जब हर साल इस यात्रा को निकाला जाता था इस बार यात्रा के दौरान हिंसा क्यों हुई। जानें क्यों भड़की हिंसा…

मोनू मानेसर का वीडियो
राजस्थान के भरतपुर के नासिर-जुनैद हत्याकांड के मुख्य आरोपी मोनू मानेसर ने एक वीडियो सोशल मीडिया पर जारी किया था। इस वीडियो में वो लोगों को इस यात्रा में शामिल होने का न्योता दे रहा था। वो खुद भी इस यात्रा में शामिल होने की बात कह रह था। इलाके के लोगों ने इस पर गुस्सा जताया। मोनू के खिलाफ विरोध प्रदर्शन की चेतावनी दी गई थी। हालांकि मोनू मानेसर इस यात्रा में शामिल नहीं हुआ।

दूसरे पक्ष ने इसे माना चैलेंज
मोनू मानेसर के इस वीडियो के बाद दूसरे पक्ष के लोगों में गुस्सा था। उन्होंने मोनू की इस वीडियो को चैलेंज माना। दूसरे पक्ष के लोगों का कहना था कि मोनू मानेसर उन्हें उकसा रहा है। उन्होंने पहले ही कह दिया था कि अगर मोनू मानेसर इस यात्रा में शामिल होता है तो वो प्रदर्शन करेंगे। अगर मोनू ये वीडियो जारी नहीं करता तो शायद नूंह में ऐसे हालात पैदा नहीं होते।

मोनू मानेसर की यात्रा में शामिल होने की अफवाह
बीजेपी के जिलाध्यक्ष गार्गी कक्कड़ ने गुरुग्राम से हरी झंडी दिखाकर इस यात्रा को रवाना किया था। यात्रा के साथ पुलिस की एक टुकड़ी तैनात की गई थी। मगर नूंह के खेड़ला मोड़ के पास लोगों के एक समूह ने इस यात्रा को रोक दिया। जुलूस पर पत्थर फेंके गए। कुछ ही देर बाद कारों में भी आग लगा दी गई। लोगों को लगा की मोनू मानेसर भी इस यात्रा में शामिल हुआ है। मानू की यात्रा में शामिल होने की अफवाह फैलने के बाद हिंसा भड़क गई।

सोशल मीडिया पर दोनों पक्षों की ओर से भड़काऊ बयानबाजी
पिछले 2 दिन से सोशल मीडिया पर दोनों पक्षों की ओर से भड़काऊ बयानबाजी कर हो रही थी, लेकिन शायद इसे सरकार की खुफिया तंत्र की असफलता कहें या सरकार ने इसे बहुत हल्के में लिया था। स्थानीय लोगों का कहना है कि पुलिस प्रशासन व सरकार इस उपद्रव से निपटने में पूरी तरह से असफल रही। उपद्रव के 5 से 6 घंटे बाद भी सुरक्षा बल और एक्स्ट्रा फोर्स मौके पर नहीं पहुंच पाई।

पंजाब की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Punjab News