Nuh Cow Smuggler Death: हत्या नहीं हादसे में गई थी गौ तस्कर वारिस की जान… पुलिस ने बताया क्या हुआ था उस सुबह

16
Nuh Cow Smuggler Death: हत्या नहीं हादसे में गई थी गौ तस्कर वारिस की जान… पुलिस ने बताया क्या हुआ था उस सुबह

Nuh Cow Smuggler Death: हत्या नहीं हादसे में गई थी गौ तस्कर वारिस की जान… पुलिस ने बताया क्या हुआ था उस सुबह


नूंह: हरियाणा के नूंह जिले के तावडू-रेवाड़ी मार्ग पर गांव अतीतका मोड़ के निकट शनिवार को गोवंश लेकर जा रही कार व टेंपो की टक्कर के दौरान एक गौ तस्कर वारिस की मौत हो गई तथा 2 तस्कर गंभीर रूप से घायल हो गए थे, जिसको लेकर परिजनों ने गौरक्षा दल के सदस्यों पर वारिस के साथ मारपीट कर उसकी हत्या करने का आरोप लगाते हुए काफी बवाल भी किया था। लेकिन अब नूंह पुलिस अधीक्षक वरुण सिंगला ने प्रेस वार्ता कर मामले से पर्दा उठा दिया है। पुलिस अधीक्षक वरुण सिंगला का कहना है कि वारिस की जान सड़क हादसे में लगी चोटों के कारण गई है। मृतक के परिजन और कुछ लोग इस मामले को गलत तूल दे रहे हैं।

क्या था पूरा मामला
तावडू-रेवाड़ी मार्ग पर शनिवार तड़के 5 बजे तीन गौ तस्कर शौकीन निवासी सालाहेड़ी, नफीस निवासी रानियाकी व वारिस निवासी हुसैनपुर अपनी सेंट्रो कार में गोवंश को भरकर भिवाड़ी राजस्थान की तरफ से नूंह जिले के तावडू ला रहे थे, तभी गौरक्षा दल के सदस्यों को सूचना मिली और उन्होंने गौ तस्करों का पीछा करना शुरू किया। गौ रक्षा दल के सदस्यों से बचने के लिए सेंट्रो कार चालक वारिस ने गाड़ी की स्पीड तेज की हुई थी। जैसे ही वह तावडू के अतीतका मोड़ पर पहुंचे तभी सामने से आ रहे एक टेंपो में सेंट्रो कार अनियंत्रित होकर टकरा गई । टक्कर के दौरान तीनों गौ तस्कर गंभीर रूप से घायल हो गए, जिसमें कार चालक वारिस की मौत हो गई।

टेंपो चालक ने पुलिस को दी सूचना
गौ तस्करों का पीछा कर रहे गौ रक्षा दल के सदस्यों ने सभी गौ तस्करों को गाड़ी से निकाला। जिसके बाद टेंपो चालक ने पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने सभी घायलों को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती किया । जैसे ही मृतक वारिस के परिजनों व ग्रामीणों को घटना की जानकारी मिली तो भारी संख्या में वे नल्हड़ अस्पताल पहुंच गए। परिजनों ने नल्हड़ में पहुंचते ही पुलिस के सामने गौ रक्षा दल सदस्यों पर मारपीट कर वारिस की हत्या करने का आरोप लगाया जबकि गौ रक्षको ने दुर्घटना के कारण मौत का मामला बता कर आरोपों को निराधार बताया।

टेंपो चालक मामले में मुख्य गवाह
इस मामले में मुख्य गवाह शिकायतकर्ता टेंपो चालक अब्दुल करीम ने बताया कि सेंट्रो कार सामने से तेज रफ्तार से आ रही थी जो अनियंत्रित होकर उनके टेंपो से टकरा गई। इस दौरान पीछा कर रहे गौ रक्षा दल के सदस्यों ने तीनों घायलों को कार से निकाला और इलाज के लिए अपनी गाड़ी में बैठा कर अस्पताल पहुंचाया। पुलिस ने टेंपो चालक की शिकायत के आधार पर गौ तस्करों खिलाफ गौ संवर्धन एवं संरक्षण एक्ट सहित विभिन्न धाराओं के तहत सदर थाना तावडू में केस दर्ज किया है।

समय पर इलाज नहीं मिलने से गई जान
नूंह पुलिस अधीक्षक वरुण सिंगला ने प्रेस वार्ता के दौरान कहा कि प्राथमिक जांच के दौरान पता चला है कि वारिस की मौत दुर्घटना से हुई है। कार और टेंपो की टक्कर से कार चालक वारिस क्षतिग्रस्त कार में बुरी तरह से फंस गया था। चेस्ट और शरीर के अंदरूनी हिस्सों में गंभीर काफी चोट आने और समय पर इलाज नहीं मिलने से वारिस की मौत हुई है। हादसे की एक सीसीटीवी फुटेज भी सामने आई है। वहीं नफीस के खिलाफ गौ तस्करी का एक मामला पहले भी तावडू थाना में दर्ज है। दोनों के खिलाफ केस दर्ज कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

पंजाब की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Punjab News