बाबा रामदेव को लेकर मचा है बवाल, जानिए क्या है माजरा ?

0
patanjali

योग गुरु और पतंजलि के संसपादक रामदेव एक बार फिर से विवादों का पात्र बनगए है। आखिरकार किन कारणों की वजह से दलित, मुस्लिम और आदिवासी वर्ग ने पतंजलि का बहिस्कार करने का ऐलान कर दिया है।

इस बार भी रामदेव अपने आपत्तिजनक बयान से लोगो के रोष का कारण बने हुए है , इस बार बाबा रामदेव ने दलितों, आदिवासी समूहों और मुसलमानों को लेकर ऐसा बयान दिया कि सोशल मीडिया पर उन्हें बायकॉट करने और गिरफ्तार करने की मांग जोरों पर है। पतंजलि के उत्पादों का बहिष्कार करने की अपील तक की रही है। ट्विटर पर ShutdownPatanjali और BycottPatanjaliProducts ट्रेंड कर रहा है

बाबा रामदेव ने एक टेलीविज़न इंटरव्यू के दौरान यह कहा था की आज कल पेरियार के की संख्या बढ़ती ही जा रही है। पेरियार के अनुसार ईश्वर को मानने वाले मूर्ख होते हैं और ईश्वर का अस्तित्व नहीं है। इस देश के लिए लेनिन मार्क्स कभी आदर्श व्यक्ति नहीं हो सकते हैं, आंबेडकर साहब के संकल्पों के पोषक हूं, किन्तु उनके भी चेलों में मूल निवासी कॉन्सेप्ट चलाने वाले लोग हैं, , वैचारिक आतंकवाद के विरुद्ध देश को कानून बनाना चाहिए। ऐसे कंटेंट को सोशल मीडिया से हटा देना चाहिए।

सोशल मीडिया पर ShutdownPatanjali और BycottPatanjaliProducts ट्रेंड कर रहा है। दलितों और आदिवासी समूहों के हितों की वकालत करने वाले बाबा अंबेडकर महासभा के अध्यक्ष अशोक भारती ने भी बाबा के बयान पर आपत्ति तथा रोष जताया है की ऐसा बयान की जितनी भी निंदा हो वो कम है।

यह भी पढ़ें : क्या एक बार फिर से पहुंचेगा अयोध्या मामला सुप्रीम कोर्ट में ?


रामदेव के कहा शब्दों को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। यह प्रतीत होता है की वह मनुवादी विचारधारा में विश्वास रखते हैं , इसलिए पतंजलि के उत्पादों के बहिष्कार का ऐलान किया है। रामदेव बाबा देश के प्रभसाली शख़्सियत में से एक है उनकी तरफ से ऐसा बयान आना काफी ही आपत्तिजनक है।