Neeraj Chopra: नीरज चोपड़ा गोल्ड मेडल चूक कर भी दे गए सबसे बड़ी गुड न्यूज, कॉमवेल्थ गेम्स में फिर गुंजेगा ‘बाहुबली… बाहुबली’

0
127


Neeraj Chopra: नीरज चोपड़ा गोल्ड मेडल चूक कर भी दे गए सबसे बड़ी गुड न्यूज, कॉमवेल्थ गेम्स में फिर गुंजेगा ‘बाहुबली… बाहुबली’

नई दिल्ली: तोक्यो ओलिंपिक (Tokyo Olympics) के बाद भारत के गोल्ड बॉय नीरज चोपड़ा (Neeraj Chopra) एक बार फिर से चर्चा में हैं। नीरज ने हाल ही में वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप (World Athletics Championships) में सिल्वर मेडल जीतकर भारत के लिए इतिहास रचा। नीरज, अंजू बॉबी जॉर्ज (Anju Bobby George) के बाद सिर्फ दूसरे भारतीय हैं जिन्होंने वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप में मेडल जीतने का कारनामा किया। नीरज ने जैवलिन थ्रो के फाइनल इवेंट के अपने चौथे प्रयास में 88.13 मीटर भाला फेंक कर चांदी का तमगा अपने किया। नीरज से पहले अंजू ने 2003 में लंबी कूद प्रतियोगिता में मेडल जीता था।

तोक्यो ओलिंपिक में गोल्ड मेडल जीत चुके नीरज चोपड़ा से वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप काफी उम्मीदें थी हालांकि सिल्वर मेडल से उन्हें संतुष्ट होना पड़ा। इस इवेंट में नीरज एंडरसन पीटर्स से पीछे रह गए, जिन्होंने 90.54 मीटर दूरी तय कर गोल्ड मेडल अपने नाम किया लेकिन इसके बावजूद भारत के इस स्टार जेवलिन थ्रोअर ने तोक्यो ओलिंपिक के अपने प्रदर्शन को बेहतर कर लिया और अब उम्मीद की जा रही है कि बर्मिंघम में होने वाले कॉमवेल्थ गेम्स में वह फिर भारत के लिए मेडल जीतेंगे। ऐसे में आइए जानते हैं नीरज के उस सफर के बारे में जिसमें उन्होंने हर साल भाला फेंक की दूरी को किस तरह से बढ़ाया है।

Lovlina Borgohain: बॉक्सर लवलीना ने BFI पर लगाया प्रताड़ना का आरोप, CWG से पहले मचा बवाल, ओलिंपिक में जीत चुकी हैं मेडल
नीरज का अब तक का सफर
नीरज चोपड़ा ने जेवलिन थ्रो में अपने करियर की पहली बेस्ट दूरी वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप में हासिल की। हालांकि उन्होंने साल 2016 में इंटरनेशनल स्तर पर अपना पहला मेडल हासिल किया जिसमें उन्होंने 77.60 मीटर दूर भाला फेंका। नीरज ने एशियाई जूनियर चैंपियनशिप में यह दूरी हासिल कर सिल्वर मेडल अपने नाम किया था।

नीरज ने इसी साल वर्ल्ड जूनियर एथलेटिक्स प्रतियोगिता ने गोल्ड का तमगा हासिल किया। इस इवेंट में उन्होंने 86.48 मीटर की दूरी तय कर सबको हैरान कर दिया। वर्ल्ड जूनियर एथलेटिक्स प्रतियोगिता में यह एक रिकॉर्ड है। 2016 में ही नीरज ने साउथ एशियन गेम्स में हिस्सा लिया जिसमें उन्होंने 82.23 मीटर दूसर भाला फेंक कर गोल्ड मेडल पर कब्जा जमाया था।

navbharat times -CWG 2022: एथलेटिक्स में नीरज चोपड़ा के अलावा भी कई दावेदार, कितने मेडल जीतेगा भारत?
इसके एक साल बाद नीरज ने 2017 में एशियन चैंपियनशिप इवेंट में 85.23 मीटर की दूरी हासिल की और यहां भी उन्होंने गोल्ड मेडल जीता। इसके अगले नीरज गोल्ड कोस्ट में कॉमनवेल्थ गेम्स 2018 में शामिल हुए। यहां पर भी नीरज ने अपना परचम लहराया और 86.47 मीटर की दूरी हासिल कर गोल्ड पर अपना कब्जा जमाया। इसके बाद तोक्यो ओलिंपिक की बारी थी।

Copy

यहां पर नीरज ने जो किया वह कभी नहीं भुलाया जा सकता है। वह ट्रैक एंड फील्ड में भारत के लिए ओलिंपिक में गोल्ड जीतने वाले पहले एथलीट बने। तोक्यो में नीरज ने 87.58 मीटर दूर भाला फेंक कर सबको पीछे छोड़ दिया और अब वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपिनशिप्स में उन्होंने अपने प्रदर्शन में सुधार करते हुए 88.13 मीटर की दूरी तय की।

वहीं नीरज ने इसी साल स्टॉकहोम डायमंड लीग में अपने नेशनल रिकॉर्ड को भी तोड़ा जिसमें 89 मीटर से अधिक की दूरी हासिल की।

navbharat times -CWG 2022: भारत का सूरमा बॉक्सर, जिसकी अखबार की एक खबर ने बदली थी जिंदगी, अब दिलाएगा भारत को मेडल
इसी साल नीरज ने तोड़ा अपना नेशनल रिकॉर्ड
ओलिंपिक में गोल्ड मेडल जीतने वाले नीरज चोपड़ा स्टॉकहोम डायमंड लीग में 89.94 मीटर का लंबा थ्रो कर अपने ही नेशनल रिकॉर्ड तोड़ा। इससे पहले उन्होंने 14 जून को पावो नुरमी गेम्स में 89.03 मीटर लंबा का थ्रो किया था। हालांकि वह 90 मीटर को क्रॉस करने से चूक गए थे। ओलिंपिक में गोल्ड जीतने के बाद नीरज ने जून में ही फील्ड पर वापसी की थी।

नेशनल रिकॉर्ड तोड़ने के बाद भी नीरज चोपड़ा गोल्ड मेडल नहीं जीत सके थे। उनके प्रतिद्वंदी पीटर्स एंडरसन ने गोल्ड मेडल अपने नाम किया था। 24 साल के एंडरसन ने 90.31 मीटर का सबसे लंबा थ्रो किया था। एंडरसन इस सीजन में 93.07 मीटर का भी थ्रो कर चुके हैं।

navbharat times -Smriti Mandhana CWG: स्मृति मंधाना ने कॉमनवेल्थ गेम्स से पहले भरी हुंकार, वर्ल्ड चैंपियन ऑस्ट्रेलिया के लिए कही बड़ी बात
नीरज के सामने अब 90 मीटर पार करने की चुनौती
वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपिनशिप्स में नीरज को उम्मीद थी कि वह 90 मीटर दूर भाला फेंक देंगे लेकिन ऐसा वह नहीं कर पाए। फाइनल में नीरज ने एंडरसन पीटर्स को कड़ी टक्कर दी थी। इस दौरान तीन बार उनसे फाउल भी हुआ। अपने छह प्रयासों के दौरान उन्होंने 82.39 मीटर, 86.37 मीटर और 88.13 मीटर की दूरी हासिल की। वहीं एंडरसन ने अपने पहले प्रयास में ही 90.21 मीटर की दूरी तक भाला फेंक दिया।

navbharat times -CWG 2022: मैट पर बाजी मारने उतरेंगे भारतीय पहलवान, तीन ओलिंपिक मेडलिस्ट से सबसे ज्यादा उम्मीदें
दूसरे प्रयास में भी उन्होंने 90.46 की दूरी तय की। हालांकि तीसरे 87.21 और चौखे में 83.11 मीटर ही भाला फेंक सके लेकिन आखिरी में उन्होंने 90.54 की मीटर की दूरी तय कर गोल्ड मेडल को अपने पास सुरक्षित कर लिया। ऐसे में नीरज चोपड़ा की कोशिश होगी कि वह आगामी प्रतियोगिता में 90 मीटर से अधिक की दूरी तक भाला फेंक कर एंडरसन की चुनौती को मुंहतोड़ जवाब देंगे।



Source link