नैनीताल:लग्जरी रिजार्ट में दिल्ली-यूपी के 150 पर्यटक सहित बच्चों की जान फंसी, कारें डूबीं-रेस्क्यू जारी

0
301
नैनीताल:लग्जरी रिजार्ट में दिल्ली-यूपी के 150 पर्यटक सहित बच्चों की जान फंसी, कारें डूबीं-रेस्क्यू जारी

नैनीताल:लग्जरी रिजार्ट में दिल्ली-यूपी के 150 पर्यटक सहित बच्चों की जान फंसी, कारें डूबीं-रेस्क्यू जारी

उत्तराखंड के पहाड़ों में पिछले चौबीस घंटे से लगातार हो रही बारिश से काफी नुकसान हुआ है। कोसी नदी का पानी रिपोर्ट में घुसने लगा है। मोहान के पास बने एक रिजॉर्ट में नदी का पानी घुसने से डेढ़ सौ पर्यटक फंस गए हैं। एक दर्जन से अधिक कारें डूबने लगी है। कोतवाल आशुतोष सिंह ने बताया कि मोहान के पास लेमनट्री रिजॉर्ट में रविवार को दिल्ली, यूपी आदि जगहों से रूकने के लिए डेढ़ सौ से अधिक पर्यटक सहित बच्चे आए थे।

बताया कि लगातार हो रही बारिश की वजह से कोसी नदी का पानी रिजार्ट में आ गया। इससे रिजार्ट परिसर में खड़ी कार डूब गई है। जबकि रिजार्ट में पानी अधिक होने  से डेढ़ सौ से अधिक पर्यटक रिजार्ट में फंसे हैं। पर्यटकों को निकालने के लिए रामनगर से रेस्क्यू टीम व एक बस भेजी गई है। उन्होंने बताया कि नाले उफान पर आने से एनएच 309 व रामनगर हल्द्वानी मार्ग पर आवाजाही पूरी तरह से बंद की गई है। 

वहीं दूसरी ओर, नैनीताल जिले के पर्वतीय क्षेत्रों में भूस्खलन के कारण 9 मजदूरों समेत कुल 15 लोगों की मौत हो गयी है। रामगढ़ ब्लॉक के झुतिया सुनका ग्रामसभा में 9 मजदूर घर में ही जिंदा दफन हो गए। ये सभी मोटर मार्ग के निर्माण कार्य में लगे हुए थे। शाम को पास में ही एक मकान में रह रहे इन मजदूरों के ऊपर 24 घन्टे से हो रही बारिश के कारण मलबा आ गया। जिससे 9 की मौत हो गयी। 

Copy

करीब चौदह घंटों से लगातार जारी बारिश ने अक्टूबर में नैनीझील के जलस्तर के सारे रिकॉर्ड तोड़ डाले। सिंचाई विभाग के अनुसार शाम करीब पांच बजे तक नैनीताल में 200 मिमी बारिश दर्ज हो चुकी थी। जिस कारण झील का जलस्तर पर 12.2 फीट के ऑल टाइम हाई रिकॉर्ड को पार कर गया। जिससे झील का पानी ओवरफ्लो होकर माल रोड तक पहुंच गया। इससे पहले अक्तूबर 1998 में सबसे अधिक 106 मिमी बारिश दर्ज की गई थी। तब जलस्तर 11.5 फीट पहुंचने पर झील का पानी ओवरफ्लो हुआ था। 

नैनीताल की ओर वाहनों की आवाजाही रोकी
जिलाधिकारी धीराज गर्ब्याल ने बताया कि नैनीताल की ओर वाहनों की आवाजाही पूरी तरह रोक दी गई है। झील किनारे रह रहे सभी लोगों को अलर्ट किया गया है। संबंधित अधिकारी राहत कार्य में जुटे हैं। शहर के तीनों मार्गों को खुलवाने के लिए जेसीबी भेजी गई है।

मौसम:उत्तराखंड में 19 को भी जमकर बरसेंगे मेघ, बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी
मौसम विभाग ने प्रदेश में मंगलवार के लिए भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। पहले जारी चेतावनी में 19 अक्तूबर को भी रेड अलर्ट घोषित किया गया था। बुधवार से प्रदेश में मौसम कुछ सुधार होने की उम्मीद है, लेकिन ठंड बरकरार रहेगी। सोमवार को प्रदेश में कई जिलों में दिन भर बारिश हुई। मौसम विभाग के निदेशक बिक्रम सिंह के अनुसार मंगलवार को कुमाऊं मंडल के अधिकांश जिलों में कहीं-कहीं भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। 

बारिश को लेकर सरकार ने यात्रियों को अनावश्यक यात्रा न करने की सलाह दी 
सरकार ने बारिश की देखते हुए लोगों से बुधवार के दिन भी अनावश्यक यात्राएं न करने की सलाह दी है। चारधाम यात्रा पर आए श्रद्धालुओं को भी उनके वर्तमान स्थान पर ही बने रहने को कहा है। सोमवार को आपदा प्रबंधन मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने कहा कि मौसम और आपदा प्रबंधन विभाग की ओर से जारी दिशानिर्देशों को सभी को सख्ती से पालन करना है।

यह भी पढ़ें: क्या डेंगू होने पर शराब पी सकते हैं ?

Today latest news in hindi के लिए लिए हमे फेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम में फॉलो करे | Get all Breaking News in Hindi related to live update of politics News in hindisports hindi newsBollywood Hindi News, technology and education etc.

Source link