मुजफ्फरपुर शेल्टर होम यौन उत्पीड़न से संबंधित मामलों की जांच हुई पूरी

0
sexual harassment
मुजफ्फरपुर शेल्टर होम यौन उत्पीड़न से संबंधित मामलों की जांच हुई पूरी

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम यौन उत्पीड़न केस से संबंधित लगभग 17 मामले सामने आए है. जिसको लेकर बिहार के मुजफ्फरपुर शेल्टर होम के मामले में सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल किया. जिसमें सीबीआई ने कहा है कि उसने मुजफ्फरपुर शेल्टर होम से जुडे सभी 17 मामलों पर अपनी जांचपड़ताल पूरी कर ली गई है. बता दें कि सात अन्य आश्रय घरों के लोगों के खिलाफ चार्जशीट नवंबर-दिसंबर 2019 में दायर की गई थी.

सीबीआई के द्वारा दिए गए हलफनामे में कहा गया है कि उन एनकजीओ के पदाधिकारियों पर विभागीय कार्रवाई की जाए, लेकिन जिनका नाम सीबीआई के रिपोर्ट में है. सीबीआई ने कहा है इस मामले पर दिल्ली का साकेत कोर्ट 14 जनवरी को अपना फैसला सुना सकता है. इस मामले में पूर्व विधायक बृजेश ठाकुर समेंत अन्य आरोपी है, बृजेश ठाकुर द्वारा चलाए जा रहे आश्रय गृह बालिका गृह में 40 से अधिक नाबालिग लड़कियों का कथित तौर पर यौन उत्पीड़न किया गया था.

बता दें कि सीबीआई ने आश्रय गृह यौन उत्पीड़न के इन मामलों पर जांच पूरी कर ली है और जिलाधिकारियों सहित, सरकारी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए रिपोर्ट दायर कर दी है. जांच एजेंसी द्वारा कहा गया है कि चार प्रारंभिक जांच में किसी आपराधिक कृत्य को साबित करने वाला साक्ष्य नहीं मिले है और इसलिए कोई प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई है.

यह भी पढ़ें: बीमारी से राहत देने के लिए बेटे ने की माँ की हत्या

बिहार के मुजफ्फरपुर में एक एनजीओ की ओर से संचालित आश्रय गृह में कई लड़कियों का यौन उत्पीड़न किया गया था और टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज की रिपोर्ट के बाद यह मामला सामने आया था.