Mutual Fund: म्यूचुअल फंड में SIP के जरिए रेकॉर्ड इन्वेस्टमेंट, लगातार बढ़ रहा निवेशकों का भरोसा, पूरी डिटेल

13
Mutual Fund: म्यूचुअल फंड में SIP के जरिए रेकॉर्ड इन्वेस्टमेंट, लगातार बढ़ रहा निवेशकों का भरोसा, पूरी डिटेल

Mutual Fund: म्यूचुअल फंड में SIP के जरिए रेकॉर्ड इन्वेस्टमेंट, लगातार बढ़ रहा निवेशकों का भरोसा, पूरी डिटेल

नई दिल्ली: बढ़ते बाजार के बीच निवेशकों की ओर से मुनाफावसूली के कारण इक्विटी Mutual Fund में लगातार दूसरे महीने में निवेश कम हुआ। मई के महीने में निवेश आधा होकर 3,240 करोड़ रुपये रह गया। अप्रैल में इक्विटी म्युचुअल फंड में 6,480 करोड़ रुपये का निवेश आया था। Mutual Fund का प्रबंधन करने वाली कंपनियों के संगठन Association of Mutual Funds in India (AMFI) की ओर से शुक्रवार को जारी आंकड़ों से यह तथ्य सामने आया है। यह नवंबर 2022 के बाद सबसे निचला स्तर है जब इक्विटी फंड का इन्फ्लो 2,224 करोड़ रुपये था। जानकारों के अनुसार इक्विटी म्युचुअल फंड में निवेश कम होने की एक और वजह स्मॉल-कैप और मिड-कैप श्रेणियों में फंड का निवेश भी है। हालांकि, म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री के असेट अंडर मैनेजमेंट का आकार अप्रैल अंत के 41.62 लाख करोड़ रुपये से बढ़कर मई अंत में 43.2 लाख करोड़ रुपये हो गया।

Ikio Lighting IPO: आज खुल रहा है एलईडी लाइटिंग बनाने वाली कंपनी का आईपीओ, जीएमपी बढ़ कर हो गया दूना

SIP निवेश रेकॉर्ड स्तर पर

सिस्टमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (SIP) के जरिए निवेश करने वालों की संख्या मई में 7.44 फीसदी का इजाफा हुआ है। इसके जरिये आने वाली रकम बढ़कर 14,749 करोड़ रुपये के रेकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई है। जबकि अप्रैल में इसके जरिए 13,728 करोड़ रुपये आए था। Debt Fund में ₹45,959 करोड़ रुपये का इन्फ्लो देखा गया, जो अप्रैल के ₹1.06 लाख करोड़ की तुलना में काफी कम है। Debt सेगमेंट में शॉर्ट-टर्म लिक्विड फंड्स में ₹45,234 करोड़ का नेट इन्फ्लो देखा गया, जबकि ओवरनाइट फंड में ₹18,910 करोड़ का आउटफ्लो देखा गया।

Small Cap Funds में फ्लो बढ़ा

इनमें निवेश अप्रैल के 2,182 करोड़ रुपये से बढ़कर मई में 3,283 करोड़ रुपये हो गया। Mid Cap Funds में निवेश ₹1,791 करोड़ से बढ़कर ₹1,196 करोड़ रुपये हो गया। आंकड़ों के अनुसार डिविडेंड यील्ड फंड में ₹289 करोड़ का इन्फ्लो देखा गया है।

Navbharat Times -Investment Tips: कम कमाई में भी बन सकते हैं करोड़पति, गजब के हैं एक्सपर्ट के ये फॉर्मूले, इस तरह से करें शुरुआत

Large Cap Funds से सबसे ज्यादा निकासी

लार्ज कैप फंड्स से सबसे ज्यादा 1,362 करोड़ रुपये की निकासी की गई। फ्लेक्सी कैप फंड्स से 368 करोड़ रुपये, ELSS फंड्स से 504 करोड़ रुपये, सेक्टोरल एंड थीमैटिक फंड्स से 169 करोड़ रुपये, फोकस्ड फंड्स से 943 करोड़ रुपये की निकासी की गई।

कोटक महिंद्रा असेट मैनेजमेंट कंपनी में सेल्स, मार्केटिंग हेड मनीष मेहता ने कहा, ‘बाजार में जारी तेजी के बीच मुनाफावसूली करने के अलावा छुट्टियां मनाने और शिक्षा के लिए खर्च बढ़ने से संभवतः मई में म्यूचुअल फंड में निवेश घटा है।’ इसके अलावा मासिक किस्तों के जरिए म्यूचुअल फंड में निवेश मई, 2023 के दौरान बढ़कर 14,000 करोड़ रुपये को पार कर गया। यह अप्रैल में 13,728 करोड़ रुपये रहा था।

राजनीति की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – राजनीति
News