मुंशी प्रेमचंद के वो 15 उपन्यास जिन्होंने जीता लोगों का दिल

0

हिंदी उपन्यास में मुंशी प्रेमचंद नें अपना एक अनोखा स्थान हासिल किया है। जब भी हिंदी उपन्यासों की बात आती है तो लोगों के जहन में सबसे पहले मुंशी प्रेमचंद का नाम आता है। उन्होंने अंग्रेजों के ज़मानें में भारत के गांव और गांव में रहने वाले लोगों के ज़िंदगियों के ऐसे अंदाज में अपनी क़िताबों के जरिए पेशे किया था, जिसने हर भारतीय को सोचने पर मदबूर किया था।

एक बार किसी ने उनसे पूछा की उनकी लिखे गए कई उन्यासों में उन्हें अपना सबसे अच्छा उपन्यास कौन सा लगता है। तो उन्होंने कहा की उन्होंने कई उपन्यास लिखे है, इतने सारे उपन्यास लिखे है की उन्हें उनके उपन्यासों के नाम खुद नहीं पता। लेकिन फिर भी उन्होंने अपने कुछ मंदपसंदिदा उपन्यासों के बारे में बता दिया।

  1. बड़े घर की बेटी
  2. रानी सारन्धा
  3. नमक का दरोगा
  4. साँक
  5. आभूषण
  6. प्रायश्तिच
  7. कामना
  8. मन्दिर और मसजिद
  9. घासवाली
  10. महातीर्थी
  11. सत्याग्रह
  12. लांछन
  13. सती
  14. लैला
  15. मन्त्र

ये वो उपन्यास है जिन्हें मुंशीप्रेमचंद नें लिखा था, और उनके द्रारा लिखी गई ये कहानियां आज भी लोगों का दिल जीत लेती है।