MSP की लड़ाई कुरुक्षेत्र से शुरू हो चुकी है, अब जारी रहेगी… किसानों को समर्थन देने पहुंचे राकेश टिकैत का ऐलान

1
MSP की लड़ाई कुरुक्षेत्र से शुरू हो चुकी है, अब जारी रहेगी… किसानों को समर्थन देने पहुंचे राकेश टिकैत का ऐलान

MSP की लड़ाई कुरुक्षेत्र से शुरू हो चुकी है, अब जारी रहेगी… किसानों को समर्थन देने पहुंचे राकेश टिकैत का ऐलान

Kurukshetra Lathi charge: कुरुक्षेत्र में किसानों पर हुए लाठीचारज के बाद भाकियू नेता गुरनाम सिंह चढ़ूनी और कई किसानों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। धरने पर बैठे किसानों से मिले के लिए राकेश टिकैत बुधवार को कुरुक्षेत्र पहुंचे।

 

राकेश टिकैट
कुरुक्षेत्र: किसान नेता राकेश टिकैत शाहबाद में किसानों के धरने के बीच पहुंचे। राकेश टिकैत ने कहा कि अगर प्रशासन भाकियू नेता गुरनाम सिंह चढूनी को रिहा नहीं करता तो दोबारा से नेशनल हाइवे को जाम किया जाएगा। उन्होंने कहा कि एमएसपी की लड़ाई यहां से शुरू हो चुकी है और अब यह लड़ाई जारी रहेगी। उन्होंने कहा कि कल जो शाहबाद में किसानों पर लाठीचार्ज किया गया है यह बहुत बड़ी घटना है। इसको किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सबसे पहली मांग किसानों की यह है कि भाकियू नेता गुरनाम सिंह चढूनी व अन्य नेताओं को रिहा किया जाए। उसके बाद एमएसपी की लड़ाई लड़ी जाएगी।राकेश टिकैत ने कहा कि गुरनाम सिंह चढूनी क्रांतिकारी नेता है। उन्होंने कहा कि चढ़ूनी लड़ाकू नेता है, जिसको किसान आंदोलन के समय भी हम रोक के रखते थे। उन्होंने कहा कि गुरनाम सिंह चढूनी किसी भी सूरत में नहीं रुकेगा और यह लड़ाई जारी रहेगी। राकेश टिकैत ने कहा कि कल हुए लाठीचार्ज पर कमेटी रणनीति तैयार करेगी। पूरे देश में इसका असर होगी। हर जगह मोर्चे लगेंगे और रोड जाम होगा। MSP को लेकर ये पहला लाठीचार्ज हुआ है। अब पूरे देश में किसान इसको लेकर अपनी आवाज बुलंद करेंगे। उन्होंने कहा कि किसानों पर लाठीचार्ज गलत हुआ है। जो किसान घायल हुए हैं और जो जेल में है उनसे मुलाकात करेंगे। उनसे बातचीत करके रणनीति तैयार करेंगे।

पहलवान विवाद पर कही ये बात
हरियाणा में पहलवानों का मुद्दा भी इस वक्त काफी गरमाया हुआ है। पहलवानों का धरना भले ही वहां से उठा दिया हो। लेकिन लड़ाई अभी जारी है। राकेश टिकैत ने इस मुद्दे पर कहा कि बातचीत के जरिए ही हल निकलता है। पहले गृह मंत्री से बातचीत हुई और अब खेल मंत्री अनुराग ठाकुर से बातचीत हो रही है। इसी बातचीत के जरिए हल निकालेंगे। हमने 9 जून तक के अल्टीमेटम में ये कहा था कि अगर सरकार बातचीत नहीं करती तो फिर हम खुद जाकर पहलवानों को उसी स्थान पर धरने के लिए बैठा देंगे। उन्होंने कहा कि युद्ध के बाद भी बातचीत होती है तो इस मसले का हल बातचीत से निकलना चाहिए।

आसपास के शहरों की खबरें

Navbharat Times News App: देश-दुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म… पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NBT ऐप

लेटेस्ट न्यूज़ से अपडेट रहने के लिए NBT फेसबुकपेज लाइक करें

पंजाब की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Punjab News