गुजरात में कांग्रेस का ‘कंगाली में आटा गीला’ होने जैसा हाल, अल्पेश ठाकोर का बड़ा फैसला

0

कहते हैं राजनीति में कब, क्या हो जाए किसी को नहीं पता? आज कोई किसी का विरोधी है तो कल उसका दोस्त बन सकता है। ऐसा ही नज़ारा गुजरात में देखने को मिल रहा है। हमेशा मोदी के विरोध में रहने वाले अल्पेश ठाकोर अब भाजपा में शामिल होने जा रहे हैं। हालांकि 2019 लोकसभा चुनाव से ठीक पहले ही वह कांग्रेस छोड़ चुके थे। चुनाव के बाद कांग्रेस की हालत और भाजपा की हालत देखने के बाद उन्होंने भाजपा में जाने का फैसला किया है। अल्पेश ठाकोर अब गुजरात कांग्रेस के लिए मुसीबत बन सकते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि अल्पेश ठाकोर द्वारा अपने दो साथी विधायक धवल सिंह जाला और भरतजी ठाकोर के साथ कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल होने की बात सामने आ रही है। अल्पेश ने खुद तो पार्टी छोड़ चुके है इसके बाद वह अन्य नेताओं को पार्टी से छुड़वा रहें हैं। कांग्रेस इस समय लोकसभा चुनाव हारकर मुसीबत में है। अल्पेश का यह कदम कांग्रेस के लिए एक और मुसीबत खड़ी कर सकता है।

अल्पेश ने दावा किया कि कांग्रेस के टिकट से जीतने वाले 15 विधायक पार्टी से परेशान हैं। गौरतलब है कि सोमवार को ही अल्पेश ठाकोर गुजरात के डिप्टी मुख्यमंत्री नितिन पटेल से मिले थे। दोनों के बीच दो घंटे बातचीत हुई। इससे कयास लगाए जा रहें हैं कि अल्पेश ठाकुर भाजपा में शामिल हो सकते है।

आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव में भाजपा को मिली प्रंचड जीत के बाद सभी राजनैतिक दलों में उथल-पथल शुरू हो गई है, लेकिन अल्पेश ठाकोर ने लोकसभा चुनाव से पहले ही कांग्रेस छोड़ दी थी। अल्पेश का कहना है कि मेरे लोग गरीब और पिछड़े हैं उनको सरकारी समर्थन की जरूरत है। ऐसे में मेरे समाज का फैसला ही अंतिम फैसला है। अल्पेश कुछ समय से नरेन्द्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष की जमकर तारीफ कर रहे हैं। हालांकि ऐसा माना जा रहा है कि केन्द्र में मोदी सरकार के शपथ ग्रहण के बाद ही अल्पेश अपने साथी कांग्रेसी विधायकों के साथ भाजपा में शामिल हो सकते है।