करोड़पति का बेटा घर से भागकर ढाबे में बर्तन मांजते हुए मिला, जाने पूरा माज़रा

0
Gujarat missing child news
Gujarat missing child news

अगर हम कहे कि किसी करोड़पति का बेटा किसी ढाबे या होटल में बर्तन मांजता हुआ पकड़ा गया है तो यह जरूर सुनने में अजीब लगेगा कि आखिर क्यों वह ऐसा कर रहा है। ऐसा ही हुआ है एक करोड़पति तेल व्यापारी के बेटे के साथ। व्यापारी के बेटे को पढ़ाई नहीं पसंद थी इसलिए वह अपना घर बार छोड़कर शिमला जाकर एक होटल में काम करने लगा। आइये इस बारें में विस्तार से जानते हैं।

गुजरात के पडरा में एक करोड़पति तेल व्यापारी के 19 वर्षीय बेटे को पढ़ाई नहीं पसंद थी इसलिए वह अपनी क्षमता को साबित करने के लिए शिमला पहुंच गया, जहां वह लगभग एक महीने तक बर्तन धोने का काम करने लगा। यह पता किसी को नहीं लग पाता अगर वडोदरा ग्रामीण पुलिस के दो पुलिसकर्मियों शिमला में छुट्टी मनाने न गए होते तो। पुलिस वाले भी इस बात को भूल चुके थे।

वासाड के एक इंजीनियरिंग कॉलेज का छात्र द्वारकेश ठक्कर 14 अक्टूबर को घर से यह कहकर निकला था कि वह कॉलेज जा रहा है। हालांकि, उन्हें न तो अपना कॉलेज पसंद था, न ही पढ़ाई। इसलिए, वासड के बजाय वह वडोदरा रेलवे स्टेशन चला गया, जहां से वह दिल्ली जाने वाली ट्रेन में सवार हो गया और गायब हो गया। महीने भर हो गया लेकिन माता-पिता अपने बेटे को खोजने में विफल रहे। यहां तक ​​कि राज्य भर में और मुंबई में भी द्वारकेश का पता लगाने का प्रयास विफल रहा।

यह भी पढ़ें: छेड़खानी का विरोध करने पर छात्रों ने टीचर के साथ की बदसलूकी

पुलिस भी लड़के को ढूढ़ने में हार मान ली थी। लड़का फ़ोन घर पर ही छोड़ दिया था जिससे उससे ट्रेस न किया जा सके। जब ये दोनों पुलिस वाले शिमला पहुंचे तो एक लड़के को होटल में काम करते देखा उन्होंने उससे आईडी कार्ड माँगा जब उसने अपना आईडी कार्ड माँगा तो उन्होंने लड़के को पहचान लिया और पड़रा पुलिस को फ़ोन कर इस बारें में बताया।

वहाँ के आसपास के लोगों से बात करने पर पता चला कि लड़का होटल में जो कुछ भी खाना बचता था उसे खाकर सड़क किनारे ही सोता था। अब उसके परिवार वालों को ख़ुशी है उनका बेटा मिल गया है।