तेजस्वी के बचाव में आएं पूर्व सीएम मांझी!

0
तेजस्वी के बचाव में आएं पूर्व सीएम मांझी!
तेजस्वी के बचाव में आएं पूर्व सीएम मांझी!

बिहार की राजनीति में आएं भूचाल के बाद रोज नया सियासी ड्रामा देखने को मिल रहा है। जी हाँ, बिहार की राजनीति में नये-नये आयाम जुड़ते जा रहे है। बात शुरूआत से करते है कि बिहार में महागठबंधन की सरकार टूटना, उसके बाद लालू परिवार पर सीबीआई और आयकर विभाग, फिर शरद यादव का दावा, इसके बाद अब तेजस्वी यादव का बंगला न छोड़ना भी सियासी ड्रामा का अंग बन गया है। जी हाँ, बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव को अपने बंगले से कुछ ज्यादा ही मोह हो गया है, यही कारण है कि वो अब बंगला छोड़ने का नाम ही नहीं ले रहे है। तेजस्वी पर चल रहे विवादों के बीच उनका बचाव करने के लिए बिहार के पूर्व सीएम भी मैदान में कूद पड़े है, हालांकि बिहार के पूर्व सीएम का इस सियासी संग्राम में आना कई तरह के सवालों का खड़ा कर देना है। आइये एक नजर डालते है इस खबर पर…..

खबर के मुताबिक, बिहार के पूर्व सीएम जीतन राम मांझी की एनडीए के हिस्सा हैं, जिसके बावजूद बीते शुक्रवार को मांझी ने खुलकर बंगले की राजनीति पर तेजस्वी यादव की जमकर तरफदारी की। इतना ही नहीं पूर्व सीएम यही नहीं रूके उन्होंने आगे साफ कहा कि प्रतिपक्ष के नेता के रुप में तेजस्वी का स्टैटस है लिहाजा 5, देशरत्न मार्ग उन्हें अलॉट किया जाना चाहिए। साथ ही मांझी ने यह भी कहा कि प्रेम कुमार जब प्रतिपक्ष के नेता थे तो उन्हें भी वही बंगला अलॉट किया था जिसमें वो रह रहे थे। इस तरह के कई बयानों से पूर्व सीएम मांझी ने तेजस्वी यादव की तरफदारी की।

क्यों आएं मांझी तेजस्वी संग…

आपको बता दें कि मांझी के तेजस्वी पाले में आने से कई तरह के कयास भी लगाएं जा रहे है। जिसमें सबसे पहला यह है कि क्या मांझी के बेटे को नीतीश कैबिनेट में जगह नहीं मिली इसीलिए उन्होंने अपना पाला बदल लिया या फिर तेजस्वी के लिए उनके दिल में प्रेम भावना जाग्रत हो गई? हालांकि इन सवालों का जवाब तो खैर वक्त ही देगा, लेकिन एक बात तो तय है कि मांझी द्वारा तेजस्वी का बचाव किया जाना उनका राजद में शामिल होना भी माना जा रहा है। हालांकि जीतन राम मांझी अब अपने बेटे का राजनीतिक कैरियर सुधारने की ओर है, ऐसे में वो चाहते है कि उनके बेटे को भी वो सब मिले जो उनको मिल चुका है, इसीलिए मांझी राजनीति में अब यह दाव खेलते नजर आ रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eighteen − 12 =