Maharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में बीजेपी और शिंदे’सेना’ बनाएंगे सरकार! किसके कितने मंत्री, इस फॉर्म्युले पर डील हुई सील?

0
108

Maharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में बीजेपी और शिंदे’सेना’ बनाएंगे सरकार! किसके कितने मंत्री, इस फॉर्म्युले पर डील हुई सील?

मुंबई: महाराष्ट्र की सियासत में हर पल नई संभावनाएं पैदा हो रही हैं। एक तरफ जहां महाविकास अघाड़ी (MVA Govt Crisis) को बचाने के लिए कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना तीनों मिलकर प्रयास कर रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ लगातार एकनाथ शिंदे गुट (Eknath Shinde Faction) सरकार को गिराने की कोशिशों में जुटा हुआ है। इन सबके बीच इस तरह की भी खबरें हैं कि आगामी शनिवार या रविवार तक महाराष्ट्र में नई सरकार (Maharashtra New Govt News) बन सकती है। यह सरकार बन पाएगी या नहीं इस पर लेकर अभी भी असमंजस बरकरार है। बावजूद इसके सूत्रों के हवाले से खबर है कि डील फाइनल हो चुकी है और बीजेपी ने बागी एकनाथ शिंदे गुट के साथ विभागों का बंटवारा कर लिया है। बताया जा रहा है कि एकनाथ शिंदे को उपमुख्यमंत्री बनाया जा सकता है। इस बीच खबर मिल रही है कि शिंदे आज मुंबई पहुंचकर राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात कर सकते हैं।

बीजेपी के पास आ सकते हैं इतने मंत्रालय
सरकार बनाने को लेकर महाराष्ट्र में हलचल तेज हो गई है। उधर खबर है कि पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस दिल्ली पहुंच रहे हैं, जहां वो बीजेपी आलाकमान से सियासी हालात पर मंथन करेंगे। हालांकि अभी बीजेपी वेट ऐंड वॉच की भूमिका में है। सूत्रों की मानें तो अगली सरकार में बीजेपी अपने पास 29 मंत्री पद रख सकती है। इस संबंध में आज दोपहर एकनाथ शिंदे गुट की एक अहम बैठक भी होनी है। सूत्रों की माने तो शिंदे गुट बीजेपी के साथ मिलकर सरकार बनाने पर विचार विमर्श कर रहा है। यह भी तकरीबन तय है कि अगर बीजेपी और एकनाथ शिंदे गुट की सरकार बनती है तो मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को बनाया जाएगा।

Maharashtra Political Crisis: सरकार बचाने के लिए उद्धव ठाकरे ने 21 जून को फडणवीस को किया था फोन! बातचीत हुई लेकिन…

Maharashtra Political Crisis: शिवसेना की इस हालत के लिए क्या संजय राउत जिम्मेदार? देखिए क्या कह रहे राजनीतिक विश्लेषक

शिंदे गुट से इतने मंत्री मुमकिन
फॉर्म्युले के तहत 8 कैबिनेट मंत्री पद और पांच राज्यमंत्री पद शिंदे गुट को बीजेपी की ओर से दिए जा सकते हैं। बताया जा रहा है कि छह विधायकों पर एक मंत्री का फॉर्म्युला लागू किया जा सकता है। सूत्रों के मुताबिक अगर सरकार बनी तो एकनाथ शिंदे, गुलाबराव पाटील, दादा भुसे, दीपक केसरकर और उदय सामंत मंत्री बनाए जा सकते हैं।

navbharat times -Maharashtra Politics: इस्‍तीफा देने को तैयार थे उद्धव ठाकरे, क‍िसकी सलाह पर बागी विधायकों से लड़ने को हुए तैयार? समझें

Aditya Thackeray News: जूनियर ठाकरे का बागी विधायकों को चैलेंज, कहा- 15-16 बागी विधायक हमारे संपर्क में

इनकी लग सकती है लॉटरी
महाविकास अघाड़ी सरकार में शिवसेना के जिन असंतुष्ट विधायकों को मंत्री पद नहीं मिल पाया था, या फिर उन्हें फंड हासिल करने में दिक्कतें पेश आ रही थीं, उन्हें भी इस बार सरकार बनने पर मंत्रालय दिया जा सकता है। वहीं सूत्रों का यह भी कहना है कि अब्दुल सत्तार, संजय शिरसाट और शंभूराज देसाई को भी मंत्रालय दिया जा सकता है।

navbharat times -किसके कितने मंत्री, डील डन… महाराष्ट्र में कैसे बन रही BJP सरकार, 10 सवालों से सब जानिए

Maharashtra Politics: सियासी संकट के बीच शिवसेना सांसद का शिंदे खेमे पर तंज, बोले- तुम्हारी हवस कम नहीं होती

उद्धव ने फडणवीस को 21 जून को किया फोन?
महाराष्‍ट्र में गहराए राजनीत‍िक संकट के बीच मंगलवार को एक और बड़ी बात न‍िकलकर सामने आई। सूत्रों के हवाले से खबर है कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने सरकार बचाने के लिए देवेंद्र फडणवीस से संपर्क साधा था। उद्धव ने एकनाथ शिंदे की बगावत के बाद 21 जून की रात देवेंद्र फडणवीस से संपर्क किया था। सूत्रों के मुताबिक फोन पर बातचीत करते हुए उद्धव ने पैचअप करने की कोशिश की थी।
navbharat times -Sanjay Raut: जेल में डाल दो, हरेन पंड्या की तरह गोली मार दो लेकिन झुकूंगा नहीं… संजय राउत के आक्रामक तेवर
navbharat times -Shiv Sena Crisis: किसान नगर और कला नगर की अदावत, एकनाथ शिंदे-उद्धव ठाकरे के रिश्ते को ऐसे समझिए

Sanjay Raut ED News: आज ईडी के सामने पेश नहीं होंगे संजय राउत, कहा- गर्दन काट लो, पर गुवाहाटी नहीं जाऊंगा

पवार ने उद्धव को इस्तीफा देने से रोका?
इसके साथ ही उद्धव ठाकरे फेसबुक लाइव के बाद इस्तीफा भी देने वाले थे, लेकिन एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार ने उन्हें ऐसा करने से रोका। दूसरे दिन भी मंत्रालय में सेक्रेटरीज को संबोधित करने के बाद उद्धव ठाकरे इस्तीफा देने वाले थे। लेकिन एक बार फिर शरद पवार ने उद्धव को इस्तीफा देने से रोका। उद्धव ने फडणवीस से बातचीत के बाद बीजेपी हाईकमान से भी बात करने की कोशिश की थी। इन सबके बीच शिवसेना के जनसंपर्क विभाग ने कहा है कि उद्धव ठाकरे ने फडणवीस को कोई फोन नहीं किया था। शिवसेना का कहना है कि उद्धव को जो भी कहना होगा वह सबके सामने आकर कहेंगे।

राजनीति की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – राजनीति
News