महोबा- मांगों को लेकर कोटेदारों ने अनिश्चितकालीन खाद्यान्न न उठाने का किया ऐलान

0

महोबा: आल इंडिया फेयर प्राइस शाप डीलर्स एसोसिएशन के आह्वान पर जिले के कोटेदारों ने अनाज न उठाने का ऐलान किया है. बता दें कि बीते दिन यानी सोमवार को कई कोटेदारों ने बैठक कर आंदोलन की रणनीति बनाई. इसके बाद सड़कों पर प्रदर्शन करते हुए कलक्ट्रेट ऑफिस पहुंचे और जिलाधिकारी को ज्ञापन भी सौंपा.

शहर के मुकुल विवाह घर में जिले भर के कोटेदार एकत्र हुए

इस ज्ञापन में लिखा था कि मांगों का निस्तारण न होने पर अक्टूबर महीने से खाद्यान्न का उठान न किए जाने की चेतावनी दी गई है. आपको बता दें कि शहर के मुकुल विवाह घर में जिले भर के कोटेदार एकत्र हुए. बैठक में संगठन मंत्री अवध बिहारी ने कहा है कि उचित दर विक्रेताओं को गोदाम से खाद्यान्न उठान में आ रहीं समस्याओं को लेकर फेडरेशन द्वारा 17 जुलाई को मुख्यमंत्री व खाद्य एवं रशद आपूर्ति मंत्री को ज्ञापन के माध्यम मांगों से अवगत कराया गया था. लेकिन आज तक इस मसले में कोई कार्रवाई नहीं हुई है, इसी के तहत कोटेदारों ने अनिश्चितकालीन खाद्यान्न उठान बंदी का ऐलान किया है.

यह भी पढ़ें: महोबा- 2500 एकड़ भूमि पर जनसहयोग से बन रहीं आदर्श गोशाला, डीएम ने जगह का लिया जायजा

क्या है मांगें

इस ज्ञापन में कोटेदारों ने 25 हजार रुपये मानदेय या 200 रुपये प्रति क्विंटल कमीशन दिए जाने, ग्रामीण क्षेत्रों में प्रधानों व सदस्यों के सत्यापन पर नियंत्रण समाप्त कर विभागीय स्तर पर सत्यापन कराए जाने, हैंडलिंग व्यय का भुगतान विभागीय स्तर से कराए जाने, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के अंतर्गत डोर स्टेप डिलेवरी लागू किए जाने समेत कई अन्य चीजों की मांग की है. और उन्होंने इस दौरान चेतावनी तक दी है कि अगर उनकी मांगें पूरी नही हुई तो कोटेदार अक्टूबर माह से खाद्यान्न का उठान नहीं करेंगे. इस दौरान कई कोटेदार शामिल थे.