मध्य प्रदेश: बसपा ने कमलनाथ के नेतृत्व वाली सरकार के बारे में लिया बड़ा फैसला

0
मायावती

मायावती की बहुजन समाज पार्टी ने बुधवार को कहा कि वह मध्य प्रदेश में कांग्रेस सरकार को बाहरी समर्थन देना जारी रखेगी। बहुजन समाज पार्टी के उपाध्यक्ष रामजी गौतम ने कहा, “हमने सांप्रदायिक और जातिवादी ताकतों को रोकने के लिए कांग्रेस सरकार को बाहरी समर्थन दिया और राष्ट्रीय अध्यक्ष के स्तर पर समर्थन जारी रखने का निर्णय लिया।”

दो बहुजन समाज पार्टी के दो विधायक – भिंड से संजू कुशवाह और पथरिया से रामबाई ठाकुर हैं। समाजवादी पार्टी के एक विधायक और चार निर्दलीय विधायक कमलनाथ सरकार का समर्थन करते हैं। मध्य प्रदेश के 230 सदस्यीय विधानसभा में कांग्रेस के 114 विधायक हैं, जबकि भारतीय जनता पार्टी के 109 विधायक हैं।

गौतम ने कहा कि पार्टी के विधायक को मंत्रिमंडल में शामिल करने का कोई सवाल ही नहीं है। गौतम ने कहा, “हमारी पार्टी प्रमुख मायावती का रुख हमेशा स्पष्ट रहा है। हम मध्य प्रदेश में सरकार को बाहर से समर्थन देंगे और सरकार में किसी भी पद को स्वीकार नहीं करेंगे।”

द न्यू इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार मुख्यमंत्री कमलनाथ को मंत्रिमंडल में फेरबदल कर सकते है।

हाल ही में बहुजन समाज पार्टी के विधायक रामबाई ठाकुर ने भाजपा पर आरोप लगाया था कि भाजपा ने राज्य सरकार को गिराने के लिए उन्हें 50 करोड़ रुपये और एक कैबिनेट बर्थ का ऑफर दिया गया था।

30 अप्रैल को मायावती ने अप्रैल में मध्य प्रदेश सरकार से समर्थन वापस लेने की धमकी दी। लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी के निराशाजनक प्रदर्शन के बाद बहुजन समाज पार्टी का ताजा फैसला कांग्रेस सरकार के लिए एक बड़ी राहत के रूप में सामने आया है। कांग्रेस ने राज्य की 29 लोकसभा सीटों में से सिर्फ एक में जीत हासिल की, जबकि भाजपा को शेष 28 में जीत मिली।