LIC IPO: देश की सबसे मूल्यवान कंपनी हो सकती है एलआईसी, मुकेश अंबानी की रिलायंस छूट जाएगी कहीं पीछे!

0
143

LIC IPO: देश की सबसे मूल्यवान कंपनी हो सकती है एलआईसी, मुकेश अंबानी की रिलायंस छूट जाएगी कहीं पीछे!

नई दिल्ली: आईपीओ (IPO) लाने की तैयारी कर रही एलआईसी (LIC) देश की सबसे मूल्यवान कंपनी बन सकती है। एलआईसी देश का सबसे बड़ा आईपीओ ला रही है। इसके लिए उसने मार्केट रेग्युलेटर सेबी (SEBI) के पास मसौदा जमा करा दिया है। इसके मुताबिक 30 सितंबर, 2021 तक कंपनी की इंडियन एम्बेडेड वैल्यू (Indian Embedded Value) 539,686 करोड़ रुपये थी। अमूमन किसी बीमा कंपनी का मार्केट कैप इसके चार गुना होता है।

किसी जीवन बीमा कंपनी के एम्बेडेड वैल्यू में भविष्य में होने वाले मुनाफे की मौजूदा वैल्यू के साथ एडजस्टेड नेट वैल्यू शामिल होती है। पूरी दुनिया में बीमा कंपनियों की वैल्यू निकालने के लिए इसी तरीके का इस्तेमाल किया जाता है। डॉलर टर्म में एलआईसी की एम्बेडेड वैल्यू 72 अरब डॉलर बैठती है। यह पहले आई रिपोर्ट्स के मुताबिक है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कंपनी की मार्केट वैल्यू इससे चार गुना हो सकती है।

LIC IPO News: हो गया खुलासा, पॉलिसीहोल्डर्स के लिए कितना रिजर्व होगा शेयर
कितना होगा मार्केट कैप
अगर ऐसा होता है तो एलआईसी की मार्केट वैल्यू 288 अरब डॉलर यानी करीब 22 लाख करोड़ रुपये होगी। इससे एलआईसी देश की सबसे बड़ी मूल्यवान कंपनी बन जाएगी। अभी यह खिताब मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries) के पास है जिसका मार्केट कैप 16 लाख करोड़ रुपये है।

जहां तक बीमा सेक्टर की बात है तो एचडीएफसी लाइफ (HDFC Life) का मार्केट कैप इसकी दिसंबर तिमाही की एम्बेडेड वैल्यू (29,540 करोड़ रुपये) से 4.25 गुना अधिक है। इसी तरह आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल लाइफ इंश्योरेंस (ICICI Prudential Life Insurance) का मार्केट कैप सितंबर 2021 में एम्बेडेड वैल्यू से 2.46 गुना और एसबीआई लाइफ इंश्योरेंस (SBI Life Insurance) 3.21 गुना ज्यादा है।

navbharat times -LIC IPO news: अगर आपके पास एलआईसी की पॉलिसी है तो सस्ते में मिल जाएगा शेयर
सरकार का घाटा होगा कम
इंडियन एम्बेडेड वैल्यू (IEV) की गणना अमेरिका की एक्चुरियल एंड कंसल्टिंग फर्म Milliman ने की है। सरकार ने कंपनी को यह काम सौंपा था। सरकार ने अभी तक यह खुलासा नहीं किया है कि वह एलआईसी में हिस्सेदारी बेचकर कितना पैसा जुटाना चाहती है। सेबी के जमा दस्तावेजों के मुताबिक सरकार इस आईपीओ के जरिए 31,62,49,885 शेयर बेचेगी। सरकार को उम्मीद है कि इस आईपीओ से होने वाली कमाई से उसे इस वित्त वर्ष में घाटा कम करने में मदद मिलेगी।

Copy

कारोबार जगत के 20 से अधिक सेक्टर से जुड़े बेहतरीन आर्टिकल और उद्योग से जुड़ी गहन जानकारी के लिए आप इकनॉमिक टाइम्स की स्टोरीज पढ़ सकते हैं। इकनॉमिक टाइम्स की ज्ञानवर्धक जानकारी पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

राजनीति की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – राजनीति
News