लालू यादव की बढ़ी मुश्किलें, CBI ने जमानत के खिलाफ दर्ज की याचिका

fodder scam
fodder scam

कभी बिहार के मुख्यमंत्री रहे लालू यादव की परेशानी और जय्दा बढ़ गई है। चारा घोटाला मामले में सजा काट रहे है। CBI ने लालू यादव को लेकर दिए गए झारखंड हाई कोर्ट के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की है। सीबीआई ने अपनी पेटिशन में जारी की जिसके तहत हाई कोर्ट के आदेश को रद्द करने की मांग की गई है। झारखंड हाई कोर्ट ने देवघर कोषागार मामले में सजा की आधी अवधि गुजर जाने को आधार पर जमानत दे दी थी और सजा को निलंबित कर दिया था।

दरअसल, हाईकोर्ट ने देवघर कोषागार मामले में आधी सजा काट चुके लालू को जमानत दे दी थी.सीबीआई ने कोर्ट के इस फैसले को चैलेंज करते हुए पेटिशन दर्ज की है। खबर यह भी आयी थी की उनको हेल्थ इश्यूज भी है डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर, हार्ट की बीमारी, क्रॉनिक किडनी डिजीज, फैटी लीवर, पेरियेनल इंफेक्शन, हाइपर यूरिसिमिया, किडनी स्टोन, फैटी हेपेटाइटिस, प्रोस्टेट जैसी बीमारियों से जूझ रहे हैं. इस वजह से उन्हें बिरसा मुंडा केंद्रीय कारावास में न रख कर रिम्स के पेइंग वार्ड में भर्ती कराया गया है।

यह भी पढ़ें : मुजफ्फरपुर शेल्टर होम यौन उत्पीड़न से संबंधित मामलों की जांच हुई पूरी

झारखंड हाइकोर्ट में 13 जून को लालू प्रसादकी जमानत अर्जी दाखिल की गई थी। इससे पहले लोकसभा चुनाव के दौरान पहले झारखंड हाइकोर्ट, फिर सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें जमानत देने से इनकार कर दिया था. सीबीआइ के स्पेशल कोर्ट ने देवघर कोषागार से अवैध निकासी मामले में लालू प्रसाद को साढ़े तीन साल की सजा सुनाई