Knowledge : जानिए दुनिया की सबसे फास्ट बुलेट ट्रेन के बारे में, Euroduplex TGV जिसने 574.8 किलोमीटर प्रति घंटे का बनाया रेकॉर्ड

0
92

Knowledge : जानिए दुनिया की सबसे फास्ट बुलेट ट्रेन के बारे में, Euroduplex TGV जिसने 574.8 किलोमीटर प्रति घंटे का बनाया रेकॉर्ड

नई दिल्ली: भारत में अब बुलेट ट्रेन (Bullet Train) का काम रफ्तार पकड़ने लगा है। रेल मंत्रालय (Ministry of Railways) देश में सात बुलेट ट्रेन ( (Bullet Train) कॉरिडोर चुने हैं। इन कॉरिडोर के लिए सर्वे और विस्तृत परियोजना रिपोर्ट तैयार की जा रही है। भारत में चलने वाली इस बुलेट ट्रेन की अधिकतम स्पीड 350 किलोमीटर प्रति घंटा होगी। वहीं, इस ट्रेन की परिचालन स्पीड 320 किलोमीटर प्रति घंटा और औसत स्पीड 250 किलोमीटर प्रति घंटा रहने वाली है। दुनिया में चलने वाली अधिकांश बुलेट ट्रेनों की स्पीड 300 किलोमीटर प्रति घंटा के आस-पास ही है। लेकिन कुछ ट्रेनें ऐसी भी हैं जो इससे काफी अधिक स्पीड से भी चलती हैं। आइए इनके बारे में जानते हैं।

यह है दुनिया की सबसे तेज बुलेट ट्रेन
दुनिया की सबसे तेज वाणिज्यिक बुलेट ट्रेन (world’s fastest bullet train) फ्रांस में दौड़ रही है। इसका नाम यूरोडुप्लेक्स टीजीवी (Euroduplex TGV) है। इस ट्रेन के पास स्टील व्हील्स वाली दुनिया की सबसे तेज वाणिज्यिक ट्रेन का खिताब है। इस ट्रेन ने तीन अप्रैल 2007 को 574.8 किलोमीटर प्रति घंटा का रिकॉर्ड बनाया था। बता दें कि नए डिजाइनों का परीक्षण करने के लिए ट्रेनसेट, ट्रैक और कैंटीनरी को संशोधित किया गया था। टीजीवी ट्रेन सेट Alstom और Bombardier द्वारा निर्मित हैं। यूरोडुप्लेक्स टीजीवी साल 2011 में पहली बार रेल सेवा में आई थी। यह दुनिया की पहली डबल डेक हाई-स्पीड ट्रेन भी है। इस ट्रेन में 1020 यात्री यात्रा कर सकते हैं।

एजीवी इटालो (AGV-Italo) ने भी बनाया है रिकॉर्ड
इसके अलावा यूरोप की सबसे मॉडर्न ट्रेन (Modern Train) के रूप में जाने जाने वाली एजीवी इटालो (AGV-Italo) ने भी टेस्ट रन के दौरान अप्रैल 2007 में 574.8 किलोमीटर प्रति घंटे के रिकॉर्ड बनाया है। इस ट्रेन को एल्सटॉम (Alstom) ने बनाया है। इस समय यह ट्रेन इटली के नापोली-रोमा-फिरेंज़े-बोलोग्ना-मिलानो कॉरिडोर पर चलती है। इसकी परिचालन स्पीड 360 किलोमीटर प्रति घंटा है। यह ट्रेन अप्रैल 2012 में सेवा में आई थी।

शंघाई मैग्लेव (Shanghai Maglev)
चीन भी बुलेट ट्रेन के मामले में काफी आगे है। यहां सबसे अधिक रफ्तार से चलने वाली बुलेट ट्रेन शंघाई मैग्लेव (Shanghai Maglev) है। शंघाई में चलने वाली इस ट्रेन की अधिकतम स्पीड 430km प्रति घंटे की है। इसकी औसत स्पीड भी 251 किलोमीटर प्रति घंटे की है। मैग्लेव ने अप्रैल 2004 में कामर्शियल ऑपरेशन शुरू किया था। इस ट्रेन का निर्माण सीमेंस और थिसेन क्रुप (Siemens and ThyssenKrupp) के कंसोर्टियम ने किया था।
Bullet Train : बीजिंग टू शंघाई, 1318 किलोमीटर 4.5 घंटे में, जानिए दिल्ली से बनारस कितनी देर में?
हार्मनी CRH 380A (Harmony CRH 380A)
हार्मनी CRH 380A ट्रेन भी चीन में ही चलती है। इस ट्रेन की अधिकतम स्पीड 380 किलोमीटर प्रति घंटे की है। लेकिन दिसंबर 2010 में परीक्षण के दौरान इसे 486.1 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलाने का रिकार्ड है। बीजिंग से शंघाई तक चलने वाली इस बुलेट ट्रेन का कामर्शियल ऑपरेशन अक्टूबर 2010 में हुआ था। इस ट्रेन का निर्माण सीएसआर किंगदाओ सिफांग लोकोमोटिव एंड रोलिंग स्टॉक (CSR Qingdao Sifang Locomotive & Rolling Stock) द्वारा किया गया था।

सीमेंस वेलारो ई/एवीएस 103 (Velaro E)
स्पेन में एवीई एस 103 AVE S 103 के रूप में नामित वेलारो ई, दुनिया में सबसे तेज सीरिज प्रोडक्शन की हाई-स्पीड ट्रेन है। इसने स्पेन में अपनी परीक्षण यात्राओं के दौरान लगभग 400 किमी प्रति घंटे की गति भी प्राप्त की थी। इसकी ऑपरेशन स्पीड 350 किलोमीटर प्रति घंटा है। यह ट्रेन बार्सिलोना-मैड्रिड लाइन पर चलती है।

Copy

टैल्गो 350 (Talgo 350)
स्पेन में ही चलने वाली टैल्गो 350 ने अपने ट्रायल रन के दौरान 365kmph की अधिकतम गति प्राप्त की थी। जबकि इसकी अधिकतम स्पीड 350 किमी प्रति घंटा है। T350 को पेटेंट टैल्गो (Tren Articulado Ligero Goicoechea Oriol) द्वारा विकसित किया गया था और बॉम्बार्डियर ट्रांसपोर्टेशन के सहयोग से टैल्गो (Talgo) द्वारा बनाया गया है।

2016 से बंद पड़े बड़हरा कोठी बिहारीगंज रेलवे ट्रैक पर जल्द ट्रेन दौड़ने की उम्मीद, अधिकारियों ने किया ट्रायल

राजनीति की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – राजनीति
News