Khandwa : शिवराज सरकार की मंत्री उषा ठाकुर बोलीं- अवैध मदरसों में कैद हैं बच्चे, डर लगता है मानव तस्करी का मामला तो नहीं…

0
48

Khandwa : शिवराज सरकार की मंत्री उषा ठाकुर बोलीं- अवैध मदरसों में कैद हैं बच्चे, डर लगता है मानव तस्करी का मामला तो नहीं…

Jitendra Yadav | Lipi | Updated: Aug 7, 2022, 8:41 PM

मध्‍य प्रदेश की पर्यटन, अध्यात्म और संस्कृति मंत्री एवं भाजपा की फायर ब्रांड नेता उषा ठाकुर ने एक बार फिर मदरसों को लेकर बड़ा बयान दिया है। (Minister Usha Thakur statement on illegal madrassa) उन्होंने कहा है की ऐसे सभी मदरसों की जांच होनी चाहिए जिन्हें मदरसा बोर्ड की अनुमति नहीं है। जिन मदरसों ने जिला शिक्षा अधिकारियों से अनुशंसा नहीं कराई है। ऐसा हर मदरसा बंद होना चाहिए।

 

Khandwa : शिवराज सरकार की मंत्री उषा ठाकुर बोलीं- अवैध मदरसों में कैद हैं बच्चे, डर लगता है मानव तस्करी का मामला तो नहीं…
खंडवा : मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार में पर्यटन, अध्यात्म और संस्कृति मंत्री एवं भाजपा की फायर ब्रांड नेता उषा ठाकुर ने एक बार फिर मदरसों को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है की ऐसे सभी मदरसों की जांच होनी चाहिए, जिन्हें मदरसा बोर्ड की अनुमति नहीं है। जिन मदरसों ने जिला शिक्षा अधिकारियों से अनुशंसा नहीं कराई है। ऐसा हर मदरसा बंद होना चाहिए, क्योंकि ये अवैध मदरसे किस प्रकार का काम करेंगे इसकी जिम्मेदारी कोई ले नहीं सकता है।

Copy

मंत्री उषा ठाकुर ने कहा कि हमारे बाल आयोग के कुछ लोगों ने निरीक्षण किया। जिसमें देखा गया कि अवैध मदरसे में 30 से 40 छोटे-छोटे बच्चे कैद हैं। बच्चों को रहने के लिए स्वच्छ वातावरण नहीं है, खाने-पीने की व्यवस्था नहीं है। जबकि बच्चें राष्ट्र की संपति राष्ट्र की धरोहर होते हैं। उनकी रक्षा हम सबकी जिम्मेदारी है, हमें डर लगा की कहीं ये मानव तस्करी का मामला तो नहीं है।
navbharat times -मदरसों में पढ़ाने के लिए टीईटी होगा जरूरी, क्वॉलिटी एजुकेशन के लिए योगी सरकार की ओर से प्रस्ताव लाने की तैयारी
बता दें कि मध्य प्रदेश में 7000 से अधिक मदरसे चल रहे हैं, जिनमें से मात्र 2200 को ही मान्यता प्राप्त है, ऐसे में बड़ा सवाल यह है कि बाकी मदरसे कैसे संचालित हो रहे हैं। मदरसा बोर्ड तीन साल के लिए रजिस्ट्रेशन करता है। बिना मान्यता के मदरसों का संचालन वैध नहीं है। स्कूल शिक्षा विभाग भी जांच के बाद इनको सत्यापित करता है, लेकिन कार्रवाई के अभाव में ये मदरसे संचालित हो रहे हैं।

आसपास के शहरों की खबरें

Navbharat Times News App: देश-दुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म… पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NBT ऐप

लेटेस्ट न्यूज़ से अपडेट रहने के लिए NBT फेसबुकपेज लाइक करें

Web Title : Hindi News from Navbharat Times, TIL Network

उमध्यप्रदेश की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Madhya Pradesh News